नौकरी का झांसा देकर पूर्व सैनिक से लूटे 14 लाख

punjabkesari.in Monday, Nov 28, 2022 - 09:44 PM (IST)

पांवटा साहिब (संजय): उपमंडल में एक पूर्व सैनिक से लाखों रुपए की ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार पुलिस को दी शिकायत में नरेश कुमार पुत्र बनवारी लाल निवासी गांव किशन कोट ने बताया कि सितम्बर, 2021 को उसे एक मोबाइल नंबर से फोन आया था, जिसमें उस व्यक्ति ने कहा कि वह आई.सी.आई.सी.आई. बैंक कॉर्पोरेट ऑफिस के एच.आर. डिपार्टमैंट से बोल रहा है। आप सेना से रिटायर्ड हैं। बैंक पूर्व सैनिकों के लिए कुछ नौकरियां रखता है। इस समय नाहन में सुपरवाइजर का पद खाली है, जिसके लिए हमने आपको फोन किया है। उसने अपना ऑफिस का एड्रैस कॉर्पोरेट ऑफिस आई.सी.आई.सी.आई. बैंक लक्ष्मी टावर्स बांद्रा मुंबई बताया। खुद को बैंक का एच.आर. बताने वाले व्यक्ति ने उससे पैन कार्ड, आधार कार्ड, माक्र्स शीट व पासपोर्ट साइज फोटो भी मांगे, जो उसने भेज दिए। उसके बाद उन्होंने फाइल के 4,000 रुपए लिए। उसने अपना गूगल पे नंबर 8077933617 दिया। इसके बाद उन्होंने एक लैटर भेजा, जिसमें 4,000 रुपए सिक्योरिटी अमाऊंट लिखा था तथा 12,500 और मांगे जो की फाइल अप्रूवल, मैडीकल तथा पुलिस वैरिफिकेशन के थे और कहा कि यह अमाऊंट रिफंडेबल है और पहली सैलरी के साथ वापस हो जाएगा।

कई नंबरों से फोन कर मांगते रहे पैसे
बाद में उन्होंने फिर 5,783 रुपए मांगे। उसके दूसरे दिन फोन आया तो उसने कहा कि उसका नाम दीक्षा मदान है। वह शिमला के संजौली की रहने वाली है। मुंबई में एच.आर. डिपार्टमैंट में जॉब करती है। उसने कहा कि फाइल को रिओपन करने के 2,200 लगेंगे। उसके बाद फिर उसने 10,700 रुपए मांगे, वह भी भेज दिए। फिर उसने कभी साइन करके पी.पी.एफ. फाइल और कभी ज्वाइनिंग लैटर भेज दिया। उसके बाद कभी साइन के नाम पर कभी स्टैंपिंग के नाम पर पैसे लेने शुरू कर दिए। इस तरह धीरे-धीरे उससे करीब 14 लाख रुपए ले लिए लेकिन नौकरी नहीं मिली। डी.एस.पी. पांवटा साहिब रमाकांत ठाकुर ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Related News

Recommended News