विश्व से आतंकवाद के समूल विनाश हेतु जनमत जागृत करना होगा : शांता

punjabkesari.in Monday, Nov 22, 2021 - 10:25 PM (IST)

पालमपुर (भृगु): पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा कि विश्व से आतंकवाद के समूल विनाश हेतु जनमत जागृत करना होगा, वहीं संयुक्त राष्ट्र संघ का भी सुदृढ़ीकरण किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में मानव द्वारा बड़ी उपलब्धियां प्राप्त करने के बावजूद विश्व बारूद के ढेर पर बैठा है। आतंकवाद विश्व में एक बड़ा संकट बनकर उभरा है। अमरीका जैसी सुपर पावर भी आतंकवाद से अछूता नहीं रहा है।

शांता कुमार फ्रैंड्ज सोसायटी ऑफ  इंडिया इन यू.एस.ए. द्वारा वर्चुअल माध्यम से आयोजित संवाद में अपना संबोधन कर रहे थे। शांता कुमार आतंकवाद-कब और कैसे होगा समाप्त, विषय पर मुख्य वक्ता के रूप में न्यूयॉर्क, शिकागो, लंदन तथा विश्व के अन्य स्थानों में रह रहे भारतीयों के साथ संवाद कर रहे थे। शांता कुमार ने कहा कि मानव ने एटम बम बना लिया, वहीं कई अन्य विध्वंसक अस्त्र-शस्त्र भी तैयार किए परंतु आतंकवाद ने स्वर्ग तुल्य इस विश्व को नर्क में धकेलने का काम किया है। अमरीका के वल्र्ड ट्रेड सैंटर में आतंकवादियों ने हवाई जहाज के माध्यम से सैंकड़ों लोगों की जान ली। उन्होंने कहा कि पूरा विश्व आतंकवाद से त्रस्त है, वहीं कई देश इसका समर्थन कर मानवीय मूल्यों की हत्या कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि विश्व का छोटा सा देश अफगानिस्तान आतंकवाद का केंद्र ङ्क्षबदु बनता जा रहा है तथा चीन और पाकिस्तान जैसे देश इस में आतंकवादियों की सहायता कर रहे हैं। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि 20 वर्ष तक रूस अफगानिस्तान में रहा, उसके पश्चात 20 वर्ष तक अमरीका ने अफगानिस्तान में दखल रखा परंतु इन दोनों महाशक्तियों के 40 वर्ष के अफगानिस्तान में दखल के बावजूद अफगानिस्तान में धरातल पर स्थिति में बदलाव नहीं आया तथा आज भी अफगानिस्तान की स्थिति वैसी ही है, जैसे 40 वर्ष पूर्व हुआ करती थी, लेकिन वर्तमान में वहां स्थिति और अधिक भयावह हुई है।

उन्होंने कहा कि स्कूल जाने वाली बेटियां फिर से घरों में कैद हो गईं, सड़कों पर आतंकवाद का बोलबाला है, ऐसे में इन दोनों महाशक्तियों का अब अफगानिस्तान में 40 वर्ष तक दखल देने का कोई अर्थ नहीं निकला है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र संघ भी असहाय और मूक बनकर रह गया है। वर्तमान में राष्ट्र संघ इतना अधिक शक्तिशाली नहीं रहा है। ऐसे में विश्व में जनमत जागृत करने की आवश्यकता है, जिसके माध्यम से राष्ट्र संघ को सुदृढ़ बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत इसमें अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। फ्रैंड्ज सोसायटी ऑफ  इंडिया इन यू.एस.ए. के संयोजक एवं अमरीका में भारत के पूर्व राजदूत भीष्म अग्निहोत्री ने शांता कुमार द्वारा इस महत्वपूर्ण विषय पर सारगॢभत उद्बोधन के लिए आभार व्यक्त किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Related News

Recommended News