12वीं के असंतुष्ट 1385 फेल परीक्षार्थियों में से 641 हुए पास

10/14/2021 10:48:24 AM

धर्मशाला (नवीन) : 12वीं के असंतुष्ट 1385 फेल परीक्षार्थियों में से 641 परीक्षार्थी पास हो गए हैं। वहीं 980  पास असंतुष्ट परीक्षार्थियों में से 730 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम में बदलाव हुआ है। जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा अगस्त 2021 में संचालित की गई जमा-2 कक्षा की अनुपूरक परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया है। जमा-2 अनुपूरक परीक्षा 2021 में 3117 परीक्षार्थी बैठे जिसमें 1873 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। 157 परीक्षार्थियों को कंपार्टमेंट आई है तथा पास प्रतिशतता 60.09 है। इस दौरान 980 पास असंतुष्ट परीक्षार्थियों व 1385 फेल असंतुष्ट परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी, जिसका परिणाम निकाला गया है। उक्त परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन, पुनर्निरीक्षण करवाने के इच्छुक परीक्षार्थी संबंधित पाठशाला के माध्यम से केवल ऑनलाइन प्रणाली द्वारा बोर्ड वैबसाइट पर पुनर्मूल्यांकन हेतु 500 रुपए व पुनर्निरीक्षण हेतु 400 रुपए प्रति विषय की दर से 28 अक्तूबर तक आवेदन कर सकते हैं। पुनर्मूल्यांकन हेतु आवेदन करने के लिए संबंधित विषय में कम से कम 20 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य हैं। उल्लेखनीय है कि बोर्ड द्वारा कोविड के चलते परीक्षा न होने के कारण निर्धारित मानदंडों के तहत परीक्षा परिणाम निकाला था लेकिन कई परीक्षार्थी उन मानदंडों के तहत निकाले गए परीक्षा परिणाम से संतुष्ट नहीं थे तथा जिन्होंने फिर से परीक्षा देने का निर्णय लिया था। वहीं कुछ दिन पहले दसवीं परीक्षा के निकाले गए परीक्षा परिणाम में 68 असंतुष्ट परीक्षार्थियों में से 52 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम में बदलाव हुआ है। 

बोर्ड द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार होंगी परीक्षा

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत 5़3़3़4 पद्धति अनुसार शैक्षणिक सत्र 2021-22 की सेकैंडरी स्टेज की कक्षा नवीं से 12वीं की परीक्षाएं टर्म-1 व टर्म-2 क्रमशः नवम्बर 2021 व अप्रैल 2022 से ‘हर घर पाठशाला्य के आधार पर निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार आयोजित करने का निर्णय लिया है। शेष विषय जिनका पाठ्यक्रम हर घर पाठशाला में उपलब्ध नहीं है, उन विषयों की परीक्षा बोर्ड द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार आयोजित करने का निर्णय लिया है। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने कहा कि परीक्षाएं शैक्षणिक सत्र 2020-21 के अनुसार पाठ्यक्रम में कटौती उपरांत शेष बचे 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम से टर्म-1 व टर्म-2 में 35ः35 प्रतिशत के आधार पर आयोजित की जाएंगी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News