अवैध खनन के मामले में NGT का दखल देना प्रदेश सरकार पर कलंक : मुकेश अग्निहोत्री

2021-06-17T21:45:44.75

ऊना (सुरेन्द्र): नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा है कि अवैध खनन के मुद्दे पर एनजीटी (नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) के जस्टिस जसवीर सिंह की अगुवाई में 5 सदस्यीय दल का आना और निरीक्षण करना ही प्रदेश सरकार पर कलंक है। उन्होंने प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि सरकारी संरक्षण में स्वां नदी के भीतर जमकर अवैध खनन हो रहा है। यदि सरकार सजग होती और इसे रोकती तो ऐसी स्थिति न आती। इस मामले में आखिरकार एनजीटी का दखल देना ही काफी गंभीर विषय है। उन्होंने कहा कि माफिया ने जमकर तबाही मचाई है। दिन-रात यहां मशीनों और पोकलेन के जरिए अवैध खनन को अंजाम दिया जाता है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जस्टिस जसवीर सिंह ने भी इस पर चिंता प्रकट की है और माना है कि बड़े स्तर पर नियमों की अवहेलना हुई है। पूरे क्षेत्र का चीरहरण हुआ है। इसके लिए प्रदेश सरकार जिम्मेदार है। आखिर सरकार क्यों सोई रही? क्यों एनजीटी को यहां आना पड़ा? सरकार की नाकामयाबी इसमें साफ झलकती है। नेता विपक्ष ने कहा कि खनन माफिया बेलगाम हो चुका है और दिन-रात यहां से कालाबाजारी चलती है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static