राशन डिपो में लगने लगी उपभोक्ताओं की लंबी कतारें, सर्वर डाउन नहीं चल रही मशीनें

10/26/2021 4:16:18 PM

ऊना (अमित शर्मा) : पीडीएस प्रणाली के तहत वितरित किया जाने वाला राशन लोगों के लिए टेढ़ी खीर बनता जा रहा है। हालत यह है कि महीने के आखिरी दिन चल रहे हैं और अभी भी लोगों को राशन वितरण नहीं किया जा सका है। जिसका सीधा कारण राशन वितरण के लिए लगाई गई मशीनों के सर्वर का डाउन होना है। कई दिनों से बार-बार सर्वर डाउन होने के चलते यह मशीनें नहीं चल रही है वहीं मशीनों पर फिंगरप्रिंट न लगने के चलते लोगों को राशन भी नहीं बंट पा रहा। हालांकि कुछ डिपो होल्डर उपभोक्ताओं के राशन कार्ड अपने पास रखकर उन्हें पुरानी मैनुअल पद्धति के आधार पर ही राशन वितरण कर रहे हैं। जबकि राशन कार्ड होल्डर को महीने के अंतिम दिन से पहले आकर पीओएस मशीन पर अपना फिंगरप्रिंट देना अनिवार्य होगा। 

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत लागू की गई फिंगरप्रिंट बेस्ड राशन वितरण प्रणाली लोगों के साथ-साथ डिपो होल्डर के लिए भी सिरदर्द बनती जा रही है। हालत यह है कि कई दिनों से सर्वर डाउन होने के चलते राशन डिपो में स्थापित की गई मशीनें सफेद हाथी बन चुकी हैं। वहीं इससे डिपो होल्डर को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि कुछ डिपो होल्डर्स अपने रिस्क पर मैनुअल प्रणाली के तहत लोगों को राशन प्रदान कर रहे हैं। वहीं डिपो संचालक संघ के जिला अध्यक्ष मुकेश शर्मा का कहना है कि प्रदेश सरकार द्वारा राशन डिपो में स्थापित की गई पीओएस मशीनें कई दिन से बार-बार सर्वर डाउन होने के कारण नहीं चल रही है जिसके चलते जिला भर के डिपो संचालकों को राशन वितरण में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

आए दिन सर्वर डाउन होने के चलते यह मशीनें बंद रहती हैं जिसके चलते लोगों को राशन नहीं वितरित किया जा पाता। उन्होंने कहा कि राशन डिपो की सेल को किसी भी सूरत में बंद नहीं किया जा सकता जिसके चलते संचालकों को मैनुअल तरीके से रिस्क लेते हुए राशन वितरण करना पड़ रहा है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि इस समस्या का स्थाई समाधान करते हुए डिपो संचालकों के साथ-साथ राशन लेने के लिए आने वाले उपभोक्ताओं के लिए भी सरल सिस्टम बनाया जाए। वहीं जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक राजीव शर्मा का कहना है कि जिला में डिपुओं पर स्थापित की गई पीओएस मशीनों में एक-दो दिन से प्रॉब्लम आ रही है जिसके संबध में टेक्निकल टीम को सूचित किया गया है और जल्द ही समस्या का समाधान हो जायेगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News