नशा तस्करों की धरपकड़ तेज कर संपत्ति की जाएगी अटैच : डीजीपी

punjabkesari.in Sunday, Jun 20, 2021 - 12:11 AM (IST)

पांवटा साहिब/नाहन (संजय/साथी): नशा तस्करों की धरपकड़ और तेज कर उनकी संपत्ति अटैच की जाएगी। यह बात डीजीपी संजय कुंडू ने कही। उन्होंने कहा कि नशे के 19 मामलों में 11.37 करोड़ की संपत्ति अटैच की गई है। पांवटा साहिब पुलिस थाना में पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि नशा तस्करों को पकडऩे के लिए पुलिस और बेहतर काम करेगी तथा नशा माफिया की संपत्ति को अटैच करने के लिए ईडी के साथ काम कर रहे हैं। डीजीपी ने नशे के 3 बड़े मामले पकडऩे पर पांवटा साहिब पुलिस की प्रशंसा की। इस मौके पर आईजी हिमांशु मिश्रा, एसपी सिरमौर खुशहाल चंद शर्मा, एएसपी बबीता राणा, डीएसपी वीर बहादुर, थाना प्रभारी संजय शर्मा, राजेश पाल व तनुजा ठाकुर मौजूद थे।

कोविड काल में 3 हजार पुलिस जवान हुए कोरोना संक्रमित

डीजीपी ने कहा कि कोविड काल में 3 हजार पुलिस जवान कोरोना संक्रमित हुए हैं, जिसमें 6 जवानों ने जान भी गंवाई है। उन्होंने कहा कि अन्य विभागों में 3 साल का कांट्रैक्ट पीरियड होता है, जबकी पुलिस जवान दिन-रात काम करते हैं।  उन्होंने कहा कि कांट्रैक्ट पीरियड 3 साल और मैस भत्ते को बढ़ाने के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। इसके पश्चात डी.जी.पी. पुलिस संजय कुंडू ने अपने दौरे के दूसरे दिन जिला मुख्यालय के नजदीक पुलिस  फ ायरिंग रैंज का जायजा लेने के बाद रैंज के आधुनिकीकरण के लिए जिले के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि फायरिंग रैंज को एनएसजी स्तर का बनाने के लिए  इसके लिए प्रपोजल बना कर भेजी जाए। 

अवैध खनन रोकने के लिए चलाया जाएगा अभियान

इसके बाद डीजीपी ने धौलाकुंआ में आईआरबी बटालियन के निर्माणाधीन भवनों का निरीक्षण किया। इस दौरान समादेशक शुभ्रा तिवारी, डीजीपी को बताया कि निर्माणाधीन भवनों का कार्य तेजी से किया जा रहा है, जिसे  दिसम्बर, 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा। डीजीपी ने भवनों के निर्माण की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखने के भी निर्देश दिए। डीजीपी ने कहा कि प्रदेश में अवैध खनन को रोकने के लिए खनन विभाग के साथ मिलकर अभियान चलाया जाएगा ताकि अवैध खनन को रोका जा सके।

सीमा पर 48 गांवों की रक्षा के लिए 5 आईपीएस

डीजीपी ने बताया कि चीन के साथ हिमाचल की 248 किलोमीटर सीमा लगती है, जिसमें 48 गांव आते हैं, जिनकी देखभाल के लिए 5 आईपीएस अधिकारियों को लगाया गया है तथा सभी गांव सुरक्षित हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News