रेशम कीट पालन से जुड़े लोगों के हितों की रक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्ध : जयराम

2/21/2021 10:22:16 PM

मंडी/बालीचौकी (ब्यूरो): मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी जिला के बालीचौकी में आयोजित रेशम कीट पालन कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने रेशम कीट पालन क्षेत्र से जुड़े लोगों की खुशहाली के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। बालीचौकी केंद्र के तहत रेशम बुनाई के बुनकरों को लाभान्वित करने के लिए 494 लाख रुपए की लागत से भवन निर्माण का कार्य आरम्भ कर दिया गया है। इस केंद्र के माध्यम से कीट पालन प्रशिक्षण के लिए 50 लाख रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है। वर्तमान में बालीचौकी में 30 महिला बुनकर प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं, जिन्हें 300 रुपए प्रतिदिन प्रति महिला की दर से प्रदान किया जा रहा है।
PunjabKesari, CM Jairam Thakur Image

थुनाग में रेशम बीज उत्पादन केंद्र के भवन निर्माण को 318 लाख रुपए जारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि थुनाग में रेशम बीज उत्पादन केंद्र के भवन निर्माण के लिए 318 लाख रुपए जारी कर दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त बागाचनोगी, ढीम कटारू, सरोआ में रेशम केंद्र की स्थापना के लिए 160 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। सरकार ने पहली बार सामान्य श्रेणी के परिवारों को रेशम पालन के लिए इस वर्ष तीन करोड़ रुपए की राशि जारी की है जिसमें से 52 लाख रुपए की राशि केवल सिराज क्षेत्र के लिए स्वीकृत की गई है। अनुसूचित जाति के किसानों को रेशम कीट पालन भवन निर्माण एवं कार्य के लिए 416 लाख रुपए भी जारी किए गए हैं।
PunjabKesari, CM Jairam Thakur Image

4 किसानों को 40-40 हजार रुपए के चैक प्रदान किए

प्रदेश सरकार लुप्त हुई ओक टसर रेशम योजना को आरम्भ करने के लिए प्रयासरत है। 200 किसानों को क्लस्टर तथा गाड़ागुशैणी में ओक टसर बीज उत्पादन केंद्र के लिए 25.25 लाख रुपए की राशि जारी की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यशाला के आयोजन से रेशम कीट पालन किसानों को केंद्र तथा रा'य सरकार के रेशम उद्योग विकास के लिए आरम्भ विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने का अवसर प्राप्त हुआ है जिससे निश्चित तौर पर रेशम कीट पालक लाभान्वित होंगे। उन्होंने रेशम कीट पालन गृह निर्माण के लिए पांच किसानों को प्रति किसान 1.50 लाख रुपए के चेक भेंट किए जबकि इस योजना से प्रदेश के 200 किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने रेशम कीट पालक टूल किट के लिए भी 4 किसानों को 40-40 हजार रुपए के चैक प्रदान किए और इस योजना के तहत भी प्रदेश में 200 किसानों को लाभान्वित किया जाएगा।

9 लोगों को घर बनाने के लिए पहली किस्त प्रदान

मुख्यमंत्री ने गृह अनुदान योजना के तहत 9 लोगों को घर बनाने के लिए 1.50 लाख रुपए की दर से प्रति व्यक्ति 75 हजार रुपए की पहली किस्त के रूप में प्रदान किए। इसके अतिरिक्त अनुवर्ती कार्यक्रम के तहत 45 सिलाई मशीनें भी वितरित की। उन्होंने बालीचौकी क्षेत्र की उत्कृष्ट कीट पालक रोशनी देवी को भी इस अवसर पर सम्मानित किया। कीट पालन केंद्र के लिए स्थानीय निवासी गोविंद राम द्वारा दस बिस्वा भूमि तथा लोकराज द्वारा पांच बिस्वा भूमि दान करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। इस मौके पर द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर और बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी सहित अन्य गण्यमान्य लोग भी मौजूद रहे।

विकास में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न नहीं होने देंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब चाहे कोरोना आए या जाए वे नहीं रुकने वाले और कोरोना के कारण प्रदेश के विकास में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न नहीं होने दी जाएगी। कोरोना काल में वर्चुअल माध्यम से साढ़े 3 हजार करोड़ की विकास योजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास किए गए। यह वर्ष प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व का 50 स्वर्णिम वर्षों के सफर को याद करने वाला वर्ष है इसलिए राज्य सरकार इस उपलक्ष्य पर विकास की रथयात्रा निकालने जा रही है। यह रथयात्रा किसी नेता विशेष पर नहीं होगी बल्कि प्रदेश के हर वर्ग के उत्थान और उनके द्वारा दिए गए अमूल्य योगदान पर आधारित होगी।
PunjabKesari, CM Jairam Thakur Image

पंचायत प्रतिनिधि निष्पक्षता और इमानदारी से करें विकास कार्य

मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बालीचौकी के सभागार में आयोजित बालीचौकी क्षेत्र के नवनिर्वाचित जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों, ग्राम पंचायत प्रधानों व उपप्रधानों तथा वार्ड सदस्यों के साथ आयोजित संवाद कार्यक्रम में उन्हें विजयी होने पर बधाई दी। इस अवसर पर उन्होंने सभी से विकास की राह पर वैचारिक दृष्टिकोण से उपर उठकर एक-दूसरे के सहयोगी बनकर कार्य करने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास के लिए विभिन्न माध्यमों से बजट सीधे पंचायतों में आता है इस सूरत में पंचायत प्रतिनिधियों की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। पंचायत प्रतिनिधि पारदर्शिता, निष्पक्षता और इमानदारी से विकास कार्यों को अंजाम दें। उन्होंने कहा कि विधानसभा सत्र के बाद स्वर्ण जयंती ग्राम स्वराज सम्मेलन आयोजित किए जायेंगे।


Content Writer

Vijay

Recommended News