सर कहीं-धड़ कहीं, यह हादसा है या हत्या

punjabkesari.in Friday, Aug 25, 2017 - 10:19 PM (IST)

चम्बा : परोथा-कुरैणा संपर्क मार्ग पर गत रात एक टाटा सफारी वाहन के गहरी खाई में गिरने से चालक की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार वीरवार की रात को कुरैणा मार्ग पर चरगा के समीप एक टाटा सफारी वाहन अचानक अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरा। परिणामस्वरूप गाड़ी में सवार गाड़ी मालिक विजय अबरोल पुत्र स्व. सूरज अबरोल निवासी गांव भियोड़ पंचायत सुंगल की मौत हो गई। वाहन गिरने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने तुरंत पुलिस को सूचित किया। पुलिस  ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए मैडीकल कालेज चम्बा लाया, जहां से उसे पोस्टमार्टम हेतु टांडा मैडीकल कालेज भेज दिया गया। एस.पी. चम्बा डा. विरेंद्र तोमर ने बताया कि पुलिस ने फिलहाल इस मामले को भारतीय दंड संहिता की धारा 279 व 304ए के तहत दर्ज कर अगली जांच प्रक्रिया शुरू कर दी है। ऐसे में इस मामले से जुड़ी प्रत्येक संभावनाओं को मद्देनजर रखते हुए पुलिस हर दृष्टि से जांच प्रक्रिया को अंजाम देने में जुट गई है। 

मुंह पर किसी प्रकार की चोट नहीं दिखाई दी
हर किसी की जुबान पर यही सुनने को मिल रहा था कि विजय अबरोल की गाड़ी दुर्घटना में मौत हुई है या फिर यह मामला हत्या से जुड़ा हुआ है। इसका कारण यह था कि जिस स्थिति में चालक का शव बरामद हुआ है, वह किसी भी दृष्टि से गाड़ी दुर्घटना से मेल खाता हुआ नजर नहीं आ रहा है क्योंकि विजय अबरोल का शव न सिर्फ गाड़ी से बाहर पड़ा हुआ मिला बल्कि धड़ से कुछ दूरी पर सिर अगल पड़ा हुआ मिला। आज तक ऐसा देखने को नहीं मिला है कि गाड़ी दुर्घटना के मामले में गाड़ी में सवार व्यक्ति की गर्दन पूरी तरह से बड़ी सफाई के साथ धड़ से अगल हो गई हो। इसमें एक बात और गौर करने की है कि सिर के किसी भी भाग में कोई भी चोट का निशान नजर नहीं आ रहा है। यहां तक कि मुंह पर भी किसी प्रकार की चोट नहीं दिखाई दी लेकिन गर्दन जिस प्रकार से कटी हुई है उससे यह साफ होता है कि किसी तेजधार वस्तु की चपेट में आकर ही गर्दन अगल हुई है। हालांकि पुलिस भी इस बात को खुले में तो स्वीकार करना जल्दबाजी समझती है लेकिन उसके मन में भी इस प्रकार के प्रश्न तैर रहे हैं तभी तो उसने भी शव का पोस्टमार्टम विशेषज्ञों की देखरेख में टांडा में करवाने का निर्णय लिया तो साथ ही धर्मशाला से फोरैंसिक टीम को भी जांच के लिए बुलाया है।

3 तरह से जांच प्रक्रिया को अंजाम देने में जुटी है
 फोरैंसिक विशेषज्ञों की यह जांच टीम शनिवार को मौके पर पहुंच कर अपनी जांच प्रक्रिया को अंजाम देगी। पुलिस की मानें तो वह इस मामले पर फिलहाल 3 तरह से जांच प्रक्रिया को अंजाम देने में जुटी है, जिसमें एक पुलिस जांच, पोस्टमार्टम की रिपोर्ट व फोरैंसिक रिपोर्ट शामिल है। इन तीनों रिपोर्टों को मिलाने के बाद जो निष्कर्ष निकलेगा उसी के अनुसार इस मामले पर पुलिस अपनी जांच प्रक्रिया को आगे बढ़ाएगी। सूत्रों के अनुसार विजय अबरोल को वीरवार को साहो-परोथा-कुरैणा मार्ग पर जल्दबाजी में जाते हुए कुछ लोगों ने देखा तो साथ ही यह बात भी अपने आप में रहस्य है कि आखिर शाम को विजय उस तरफ क्यों गया था। आखिर उसकी आखिरी बार मोबाइल पर किसके साथ बात हुई। ये प्रश्न भी इस मामले की गुत्थी को सुलझाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। 

पुलिस इस मामले से जुड़ी प्रत्येक आशंकाओं व संभावनाओं को मद्देनजर रखते हुए अपनी जांच प्रक्रिया को अंजाम देने में जुटी हुई है। सभी पहलुओं पर जांच की जाएगी। 
- डा. विरेंद्र तोमर, एस.पी., चम्बा 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News