Atal Tunnel Rohtang के बाद अब शिंकुला टनल का निर्माण करेगा BRO

2021-06-18T00:20:49.803

मनाली (सोनू): बीआरओ अटल टनल के निर्माण के बाद अब 16 हजार फुट ऊंचे शिंकुला दर्रे में टनल का निर्माण करेगा। टनल बनने से जल्द ही लेह लद्दाख तीसरे व मुख्य राजमार्ग से जुड़ जाएगा। रोहतांग की अटल टनल के बाद अब शिंकुला टनल सेना की राहों को आसान करेगी। टनल के निर्माण को लेकर बीआरआ औपचारिकताओं को पूरा करने में जुट गया है। बीआरआ ने हालांकि इस विषय में कुछ भी कहने से इंकार किया है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि बीआरआ के एडीजी हरेंद्र कुमार शिंकुला टनल के निर्माण व दारचा शिंकुला पदुम निमो सड़क निर्माण को लेकर ही दौरे पर आए हुए हैं। बीआरओ एडीजी ने शिंकुला दर्रे का निरीक्षण किया और बीआरओ के सभी अधिकारियों से टनल निर्माण सहित सड़क निर्माण को लेकर चर्चा की।

बीआरओ अपने 70 आरसीसी स्टिंगरी के हैडक्वार्टर के ढांचे को विकसित करने का विचार कर रहा है। बीआरओ यहीं से शिंकुला टनल निर्माण की देखरेख करेगा। इसके लिए बीआरओ ने तैयारी भी शुरू कर दी है। 3 साल पहले ही बीआरओ ने दारचा से शिंकुला मार्ग पर दर्रे के नीचे से कारगे गांव के लिए 4 किलोमीटर टनल बनाने की रूपरेखा तैयार की थी। हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि बीआरओ किस कंपनी के सहयोग से टनल का निर्माण करेगा लेकिन अटकलें जाहिर की जा रही है कि अटल टनल का निर्माण करने वाली कंपनी ही शिंकुला टनल का निर्माण कर सकती है। टनल बनने के बाद जांस्कर और कारगिल, लेह इलाके में 12 माह गाडिय़ां चल सकेंगी। टनल निर्माण से सीमावर्ती क्षेत्रों तक पहुंचना आसान हो जाएगा साथ ही जांस्कर घाटी के लोगों को इस टनल का सबसे अधिक लाभ मिलेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static