हिमाचल की बेटी से मुम्बई में ज्यादती पर प्रशंसकों में गुस्सा

9/9/2020 5:25:17 PM

कुल्लू (शम्भू प्रकाश) : हिमाचल की बेटी कंगना से मुम्बई में ज्यादतियों पर उनके प्रशंसकों में गुस्सा है। मुम्बई में कंगना के घर के काफी हिस्से को बीएमसी द्वारा तोड़े जाने को सब गलत बता रहे हैं। महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर बीएमसी ने यह कार्रवाई करके कंगना को परेशान करने की कोशिश की है लेकिन उनके प्रशंसक कहते हैं कि इसका महाराष्ट्र सरकार और बीएमसी को खमियाजा भुगतना पड़ेगा। देश में हर नागरिक को अभिव्यक्ति की आजादी है, ऐसे में कंगना के प्रति महाराष्ट्र सरकार का इस प्रकार आग उगलना ठीक नहीं है। 

कंगना सुरक्षा दिए जाने पर अब उतारेंगी हिमाचल का कर्ज

पहले हिमाचल प्रदेश सरकार ने कंगना रणौत को सुरक्षा दी और फिर केंद्र ने कंगना को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। लोगों में यह भी चर्चा है कि कंगना अब दी गई सुरक्षा की एवज में हिमाचल प्रदेश का भी कर्ज उतारेंगी। प्रदेश में जब सरकार ने कंगना को हिमाचल का ब्रांड एम्बैसेडर बनने के लिए कहा था तो कंगना ने अपने प्रोफैशनल होने का हवाला देते हुए इसके लिए पैसों की मांग की थी। इसके उपरांत यामिनी को ब्रांड एम्बैसेडर बनाया गया था। अब लोग कह रहे हैं कि कंगना को जिस प्रकार प्रदेश सरकार ने सुरक्षा प्रदान करने में देर नहीं लगाई उसी प्रकार कंगना भी अब प्रदेश का कर्ज उतारेंगी। 

कंगना रणौत ने बुधवार को अपने ट्वीट में कहा है कि वे 12 साल की उम्र तक चंडीगढ़ में रहीं और 16 वर्ष की उम्र में मुम्बई गईं। मुंबा देवी के आशीर्वाद से कंगना कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ती गईं और आज मुकाम पा चुकी हैं। मूल रूप से हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के भांवला की रहने वाली कंगना रणौत के प्रशंसकों अतुल शर्मा, विवेक पराशर, आशु पंडित, रमेश ठाकुर, वीर सिंह ठाकुर, चेतन ठाकुर, नितीश शर्मा, प्रवीण ठाकुर, प्रेम ठाकुर, गिरीराज बिष्ट, जगदीश बिष्ट, राजेंद्र आचार्य व कुलदीप शर्मा आदि ने कहा कि कंगना हिमाचल की बेटी और एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद बॉलीवुड में कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ती गईं। अपने बेहतरीन अभिनय के दम पर उन्होंने मुकाम पाया। जिस प्रकार शिव सेना, बीएमसी उनके साथ व्यवहार कर रही है वह निंदनीय है। महाराष्ट्र की जनता ही एक लड़की को इस प्रकार परेशान करने पर शिव सेना को माफ नहीं करेगी।


prashant sharma

Related News