भू-स्खलन के बाद मनाली-काजा मार्ग पर फंस गए थे 35 लोग, जानिए आधी रात को किसने किया रैस्क्यू

punjabkesari.in Thursday, Jun 17, 2021 - 06:20 PM (IST)

मनाली (ब्यूरो): मनाली-काजा मार्ग पर ग्राम्फू से 9 किलोमीटर दूर छतडू के पास भू-स्खलन के चलते अवरुद्ध हुए मार्ग के कारण फंसे सभी 35 पर्यटकों व वाहन चालकों को आधी रात को रैस्क्यू कर लिया गया है। पर्यटकों व चालकों के फंसे होने की सूचना मिलते ही लाहौल-स्पीति पुलिस टीम राजा घेपन रैस्क्यू टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंची और रैस्क्यू अभियान शुरू किया। बीआरओ की टीम पहले ही सड़क बहाली में जुटी हुई थी लेकिन भू-स्खलन 3 जगहों पर  होने के कारण पर्यटक दिक्कत में पड़ गए थे।

रैस्क्यू करने के बाद अधिकतर पर्यटक मनाली भेजे

सभी ने एक साथ कार्य करते हुए फंसे हुए 35 लोगों को रात करीब साढ़े 12 बजे रैस्क्यू करने में सफलता पाई। अधिकतर पर्यटकों को रात को ही मनाली भेज दिया जबकि कुछेक सिस्सू के होटलों में ठहरे।  हालांकि मनाली काजा-मार्ग आज दोपहर तीन बजे बहाल हुआ लेकिन सभी लोगों को रात को ही रैस्क्यू कर लिया था। एक गाड़ी डोहरानी नाले में धंस गई थी। एक गाड़ी में काजा से शव लाया जा रहा था, वह भी इस नाले में फंस गई थी। इन सभी वाहनों को भी निकाल लिया गया है।

बीआरओ ने बहाल किया मनाली-लेह मार्ग

उधर, बारालाचा के पास भू-स्खलन होने से मनाली-लेह मार्ग पर भी वाहनों की आवाजाही बंद हो गई थी। रात के समय भू-स्खलन होने से बारालाचा दर्रे के दोनों ओर वाहन फंस गए। सुबह ही बीआरओ ने सड़क बहाली शुरू की और दोपहर लगभग एक बजे सड़क बहाल कर दी है। कोकसर स्थित 94 आरसीसी के सहायक अभियंता ओआईसी योगेश टेंभरे ने बताया कि डोहरानी छतडू में फंसे हुए वाहनों को बारिश के बीच वीरवार सुबह से मैन और मशीन पावर प्रयोग कर दोपहर 3 बजे के करीब निकाल दिया है। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने कहा कि मनाली-काजा मार्ग पर छतडू के बाद मनाली-लेह मार्ग और बारालाचा में भी भू-स्खलन से दोनों सड़कें अवरुद्ध हो गई थीं, जिन्हें बीआरओ ने बहाल कर लिया है। इसकी पुष्टि लाहौल-स्पीति के एसपी मानव वर्मा ने की है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News