हिमाचल में बारिश-बर्फबारी से 2 NH सहित 178 सड़कें बंद, 423 विद्युत ट्रांसफार्मर भी ठप्प

4/22/2021 11:38:26 PM

शिमला (देवेंद्र): सूबे में 72 घंटे से अधिक समय से हो रही बारिश व ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी से परिवहन और विद्युत सेवाएं बुरी तरह चरमरा गई हैं। खासकर बर्फ बाहुल इलाकों में लोगों को सड़कें बंद होने व बिजली न होने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर और चम्बा के कबायली इलाकों में 2 एनएच सहित 178 सड़कें वाहनों के लिए अवरुद्ध हो गई हैं। इसी तरह 423 विद्युत ट्रांसफार्मर से बिजली आपूर्ति भी बाधित हुई है।

लाहौल-स्पीति में सबसे अधिक सड़कें बंद

राज्य आपदा प्रबंधन सैल के मुताबिक लाहौल-स्पीति में सबसे अधिक 140 संपर्क मार्ग और 2 एनएच ताजा हिमपात से बाधित हुए हैं। कुल्लू में 7 संपर्क मार्ग, पांगी में 9, सलूणी में 1, भरमौर में 5, किन्नौर के पूह में 11 और कल्पा में 4 संपर्क मार्गों पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। इसी तरह पांगी में 35 विद्युत ट्रांसफार्मर, पूह में 93, कल्पा में 53, निचार में 3, कुल्लू में 6, लाहौल डिवीजन में 166 और काजा में 67 विद्युत ट्रांसफार्मर से बिजली की सप्लाई प्रभावित हुई है।

ओलावृष्टि से फसलों को हुआ नुक्सान

प्रदेश के कई इलाकों में बीते 24 घंटे के दौरान भारी ओलावृष्टि हुई है। इससे किसानों-बागवानों की नकदी फसलों को भारी नुक्सान हुआ है। कृषि व बागवानी विभाग ने फील्ड अधिकारियों को नुक्सान का आकलन करने के निर्देश दे दिए हैं। खासकर ऊंचाई वाले इलाकों में इन दिनों सेब की फ्लावरिंग चली हुई है। ऐसे वक्त में बर्फबारी और ओलावृष्टि से नुक्सान कई गुना बढ़ गया है। राज्य में बीते एक सप्ताह से अलग-अलग क्षेत्रों में ओलावृष्टि किसानों-बागवानों पर कहर बनकर टूट रही है। बीते बुधवार देर रात भी शिमला के आसपास के इलाकों में ओलावृष्टि ने किसानों की सारी फसलों को बर्बाद किया है।


Content Writer

Vijay

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static