Blue Whale के चक्कर में फंसे 4 दोस्त, परिवार वालों के उड़े होश

Blue Whale के चक्कर में फंसे 4 दोस्त, परिवार वालों के उड़े होश

सोलन:देश में खतरनाक गेम ब्लू व्हेल चैलेंज का खौफ बढ़ता जा रहा है। भारत में इसके मामले लगातार सामने आ रहे हैं। बच्चे लगातार ब्लू व्हेल गेम के चंगुल में फंस रहे हैं। इस खतरनाक गेम के चैलेंज में फंसकर भारत में कई बच्चे अपनी जान गवां चुके हैं। अब हिमाचल में भी स्कूली बच्चों द्वारा इस खूनी गेम के जाल में फंसने से हड़कंप मच गया है। सोलन के एक निजी स्कूल के पकड़े गए छठी कक्षा के छात्र ने खुलासा किया है कि उसके चार और साथी ब्लू व्हेल के टास्क पूरा करने के लिए अलग-अलग एडवांस स्टेज में खेल रहे हैं। छठी कक्षा के छात्र ने कहा वह एक हफ़्ते से ही यह खूनी गेम खेल रहा था। उसे बाजू पर ब्लेड से गोदकर व्हेल बनाने का पहला टास्क मिला था। इसका फोटो ऑनलाइन अपलोड करना था। लेकिन इससे पहले की घरवालों ने उसे पकड़ लिया। दरअसल, जो बच्चे ये गेम खेल रहे है वह अापस में दोस्त है और  एक ही स्कूल के बताए जा रहे हैं सभी एक साथ साइबर कैफे या दोस्तों के मोबाइल पर गेम खेलते थे। इस मामले में अभी तक पकड़े गए बच्चे के अभिभावकों ने पुलिस में शिकायत तक दर्ज नहीं करवाई है।

स्कूल प्रबंधन ने झाड़ा पल्ला
इस मामले में पुलिस भी कार्रवाई करने से कतरा रही है। जो चार बच्चे एडवांस स्टेज में टॉस्क पूरा करने में जुटे हैं 24 घंटे बाद भी उनकी खोजबीन शुरू नहीं हो पाई है। हो सकता है कि और बच्चे भी ब्लू व्हेल के जाल में फंसे हों। उधर, स्कूल प्रबंधन ने पल्ला झाड़ते हुए कहा कि जो बच्चा पकड़ा गया है उनके स्कूल का नहीं हैं पंरतु बच्चे का कहना है वह इसी स्कूल का है और उसने स्कूल का नाम भी लिया है। एसपी सोलन मोहित चावला का कहना है कि इस मामले में अभी तक उनके पास कोई शिकायत नहीं आई है। ऐसे में सीधे तौर पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकते। स्कूल प्रबंधन और अभिभावक चाहें तो पुलिस का साइबर सेल स्कूल में जाकर इस बारे में बच्चों को जागरूक कर सकता है। जल्द ही साइबर कैफे का मुआयना किया जाएगा। 


दोस्त ने सिखाया था टास्क पूरा करना 
इस गेम के जाल में फंसे छात्र ने बताया व्लू व्हेल गेम में एक बार शामिल होने पर इसके आयोजकों तक पूरी जानकारी पहुंच जाती है। टास्क छोड़ने पर जान से मारने की धमकी देते हैं। बच्चे के अनुसार उसके साथी टास्क छोड़ना चाहते हैं लेकिन उन्हें या उनके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकियां मिलीं। इस वजह से वे डर गए और इस गेम से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। जिस परेशानी में वह फंसे हैं अपने माता-पिता को भी नहीं बता पा रहे। इस छात्र ने कहा पहली बार अपने दोस्तों के साथ जब साइबर कैफे गया तो एक बच्चे ने उसे व्लू व्हेल के बारे में बताया  और उसने वहीं बैठकर गेम खेलने लग गया। इस बच्चे ने कहा कि मुझे लगता है कि क्षेत्र का एक और बच्चा इस गेम की एडवांस स्टेज तक पहुंच चुका है। लेकिन उसके परिवारवालों को  इसकी कोई जानकारी नहीं है। गेम में उसे टास्क मिला था जिसमें ब्लेड से बाजू पर आकृति बनानी थी। उसने बताया कि उसके तीन अन्य दोस्त भी गेम खेल रहे हैं।  
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !