विश्व हिंदू परिषद ने चम्बा में किया धरना प्रदर्शन, आतंकवाद का फूंका पुतला

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 04:50 PM (IST)

चम्बा (काकू): राजस्थान के उदयपुर में हिंदू युवक की दुकान में घुसकर नृसंश हत्या के विरोध में हिंदू समाज उग्र हो गया है। हिंदू संगठन सड़कों पर उतर आए हैं। वीरवार को विश्व हिंदू परिषद ने चम्बा में धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर इस्लामिक आतंकवाद का पुतला जलाया और जमकर नारेबाजी की। इसके बाद ए.डी.एम. अमित मेहरा के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। इसमें हत्यारों को मृत्युदंड देने की मांग की है। विश्व हिंदू परिषद के प्रांत उपाध्यक्ष डा. केशव, विभागाध्यक्ष चतरसेन शर्मा व जिला अध्यक्ष अमरजीत अरोड़ा ने बताया कि नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने पर जिहादियों ने उदयपुर में दिनदिहाड़े दुकान में घुसकर एक हिंदू युवक की निर्मम हत्या कर दी। इसका एक वीडियो भी जारी किया है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी देकर देश की संप्रभुता को चुनौती दी है।

इस घटना से पूरे देश का हिंदू समाज आहत है। उन्होंने बताया कि मृतक कन्हैया लाल को एक हफ्ता पहले जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं। इसके चलते पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवाई गई थी, लेकिन तुष्टीकरण के चलते पुलिस प्रशासन ने कन्हैया लाल को किसी प्रकार की सुरक्षा उपलब्ध नहीं करवाई। उन्होंने कहा कि राजस्थान ङ्क्षहदू समाज के लिए आतंकवाद का पर्याय बन चुका है। आतंकवादी संगठन की अत्याधिक सक्रियता और उनके वोटों की लालची राजस्थान सरकार ङ्क्षहदू समाज पर आतंकियों को प्रोत्साहित कर रही है। पिछले कुछ समय से राजस्थान में ङ्क्षहदू समाज को षडय़ंत्र पूर्वक प्रातडि़त किया जा रहा है। आतंकियों को राज्य सरकार का खुला समर्थन प्राप्त है। योजनाबद्ध तरीके से ङ्क्षहदुओं पर हमले किए जा रहे हैं।

रामनवमी  पर शोभायात्रा पर पथराव व हमले किए गए, जिसके कारण अनेक स्थानों पर कफ्र्यू लगाना पड़ा। ङ्क्षहदू समाज ने धैर्य बनाए रखा। इस कारण कोई बड़ी अनहोनी नहीं हुई। बाद में कुछ स्थानों पर हनुमान जयंती पर निकाली शोभायात्राओं पर भी पथराव हुआ। उन्होंने मांग की है कि राजस्थान की गहलोत सरकार को बर्खास्त किया जाए। कन्हैया लाल हत्याकांड की सी.बी.आई जांच  करवाकर हत्यों को मृत्युदंड दिया जाए। मामले में संलिप्त आतंकी संगठनों को पूरे देश में बैन किया जाए, राजस्थान में रहने वाले राष्ट्रविरोधी असामाजिक तत्वों की पहचान कर उन सब पर कानूनी कार्रवाई की जाए और मृतक के परिजनों को 5 करोड़ रुपए मुआवजा राशी देने के आदेश जारी किए जाएं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kaku Chauhan

Related News

Recommended News