रामकुमार की यह खूबी पीएम को भा गई, मन की बात में किया जिक्र

punjabkesari.in Monday, Nov 29, 2021 - 03:54 PM (IST)

ऊना (अमित शर्मा) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के दौरान ऊना जिला से संबंध रखने वाले शिक्षक राम कुमार जोशी का जिक्र किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर उनका जिक्र किए जाने से जहां शिक्षक रामकुमार गर्व महसूस कर रहे हैं, वही अपनी कला से प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले राम कुमार जोशी आज जिला ही नहीं प्रदेश भर में भी चर्चा का केंद्र बने हैं। सूक्ष्म लेखक और शिक्षक राज्य पुरस्कार से सम्मानित रामकुमार जोशी ने सूक्ष्म लेखन शैली के प्रयोग से भगवानों, प्रसिद्ध नेताओं और कई बड़ी हस्तियों के चित्र बनाये है। जिला ऊना के गांव भटोली निवासी राम कुमार जोशी शिक्षक के पद पर राजकीय प्राथमिक केंद्र पाठशाला जखेड़ा में कार्यरत हैं। बता दें कि राम कुमार जोशी इस सूक्ष्म लेखन शैली में पिछले 35 वर्ष से सूक्ष्म लेखन से चित्र बना रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम कुमार जोशी की प्रतिभा की उन्मुक्त कंठ से प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने हर्ष व्यक्त किया कि राम कुमार जोशी ने एक छोटे से पोस्ट स्टैंप पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्र बनाए। हिंदी में लिखे राम शब्द से ही उन्होंने अधिकतर स्केच तैयार किये है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के 83 वें संस्करण में ऊना जिला के भटोली गांव से संबंध रखने वाले प्राथमिक शिक्षक राम कुमार जोशी का जिक्र करते हुए उनकी अनोखी प्रतिभा की उन्मुक्त कंठ से सराहना की। मिनिएचर राइटर राम कुमार जोशी ने 35 वर्ष के कालखंड के दौरान अनेकों ऐसी तस्वीर उकेरी जिन्हें केवल शब्दों के साथ बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मन की बात कार्यक्रम में राम कुमार जोशी का जिक्र करना उनकी प्रतिभा को देशवासियों के साथ साझा करना न केवल राम कुमार जोशी बल्कि हिमाचल प्रदेश के लिए भी गर्व की बात है। राम कुमार जोशी अभी तक नेताजी सुभाष चंद्र बोस, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला, सत्य साईं बाबा, शिर्डी के साईं बाबा, भगवान राम सहित बहुत सारी विभूतियों के स्केच शब्दों से बना चुके हैं और इन स्केच में राम कुमार जोशी द्वारा राम शब्द या चित्र से जुड़ी जीवनी को छोटे छोटे शब्दों में लिखा गया है। जिन्हे पढ़ने के लिए लेंस की आवश्यकता पड़ती है जबकि राम कुमार जोशी द्वारा इन्हे नंगी आँखों से लिखा गया है।

राम कुमार जोशी द्वारा बनाए गए स्केचेस मिली मीटर से शुरू होकर सेंटीमीटर और इंच तक भी हैं। उनका सबसे बड़ा कैच करीब 3 फुट का है जो उन्होंने गुरु नानक देव जी का बनाया है। राम कुमार जोशी को कई पुस्कार मिल चुके है वहीँ वर्ष 2016 को शिक्षक दिवस पर रामकुमार जोशी को बेस्ट टीचर अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चूका है। जिससे यह साबित होता है कि वो एक बेहतरीन कलाकार होने के साथ साथ एक अच्छे शिक्षक भी है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में राम कुमार जोशी की प्रतिभा की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कि राम कुमार जोशी ने एक छोटे से पोस्ट स्टैंप पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्र बनाए जो अपने आप में एक बड़ी कला है।   

मन की बात कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जिक्र किये जाने के बाद राम कुमार जोशी भी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे है। राम कुमार जोशी का कहना है कि देश की 135 करोड़ जनता में से एक छोटे से कलाकार और शिक्षक को प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम में स्थान दिया। यह उनके लिए बहुत गर्व की बात है।  राम कुमार जोशी ने बताया कि वह वर्ष 1984 से इस काम में लगे हैं और वह सूक्ष्म लेखन का काम करते हैं। उनके लिखे सूक्ष्म शब्दों को पढ़ने के लिए लेंस की जरूरत पड़ती है हालांकि इन्हें लिखने के लिए वो किसी भी चीज का सहारा नहीं लेता हूं। राम कुमार जोशी ने बताया कि जब आधुनिक गैजेट्स का समय नहीं था उस वक्त चिट्ठी ही लिखी जाती थी। उस दौरान वो अपने इलाके की समस्याएं लेटर टू एडिटर के द्वारा ही लिखकर भेजते थे। उसी दौरान उन्हें सूक्ष्म लेखन का शौक हुआ और उन्होंने सूक्ष्म लेखन एक लाइन या दो लाइन से लिखना शुरु करते हुए सबसे पहले दो हजार शब्द का लैंड मार्क हासिल किया। उसके बाद लाखों में सूक्ष्म शब्द लिखने शुरू कर दिए। इसी के तहत उन्होंने एक पोस्ट कार्ड पर 300000 से अधिक शब्द भी लिखे है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News