सुजानपुर का विकास रोकने वाले नेताओं को जनता कभी नहीं करेगी माफ : राणा

punjabkesari.in Sunday, Jan 30, 2022 - 05:14 PM (IST)

सुजानपुर : सुजानपुर में बीजेपी ने राजनीति में सत्ता के दबाव में विकास रोकने की नई परम्परा व प्रथा शुरू की है। जो कि बीजेपी के नेताओं की हार की खुन्नस व बदले की भावना को उजागर कर रही है। विधायक राणा सुजानपुर की ग्राम पंचायत डेरा में महिला मंडल सम्मान समारोह में बोल रहे थे। इस अवसर पर राणा ने 3 महिला मंडलों को 12-12 हजार रुपए व एक-एक टेंट देकर सम्मानित किया। राणा ने कहा कि सियासत की यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि बदले की हार में जलन बीजेपी के नेताओं ने सुजानपुर का विकास रोकने के लिए पिछले 4 सालों से एड़ी-चोटी का जोर लगा रखा है। सियासत में बीजेपी की इसी नकारात्मक सोच के चलते अब सुजानपुर की जनता बीजेपी से नाराज नहीं बल्कि नफरत करने लगी है। 

उन्होंने कहा कि अधिकारियों को जब इसका कारण पूछा जाता है तो अधिकारी नाम उजगार न करने की शर्त पर बताते हैं कि क्या करें साहब ऊपर से बजट रोकने का लगातार दबाव है। उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच रखने वाले कई टेक्नोक्रेट व प्रशासनिक अधिकारी बताते हैं कि एक जमाना था जब लगातार विकास कार्यों को गति देने के लिए सत्ता का दबाव रहता था। लेकिन एक जमाना यह है कि लगातार बजट को रोकने व विकास कार्यों को न करने के लिए लगातार दबाव बना हुआ है। जिसमें जनता लगातार पिस रही है। राणा ने कहा कि लोकतंत्र में हार-जीत दो पहलु होते हैं। लेकिन जो जीत कर भी विकास न करवाएं और हार के बाद भी विकास को रोकें ऐसे नेताओं का जनता क्या करे। यह तो अब जनता को ही सोचना होगा। लेकिन इन चार वर्षों में सुजानपुर लगातार विकास के लिए चीखता रहा और बीजेपी के नेता सत्ता अहम में विकास को रोकने में लगे है। 

राणा ने कहा कि उधर बेरोजगारी की मार से बिलबिला रहे बेरोजगारों की न सरकार मान रही है और न सुन रही है। आलम यह है कि मूलभूत स्वास्थ्य सुविधाओं को देने वाले एंबुलेंस कर्मचारी अब सरकार की प्रताडना से अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर चले गए हैं। जिससे मरीजों को मिलने वाली एंबुलेंस सुविधा भी अब बंद हो चुकी है। प्रदेश की जनता महंगे दामों पर प्राइवेट एंबुलेंस या टैक्सियों में मरीजों को ले जाने के लिए लाचार हैं। सरकार की अविवेकपूर्ण नीतियों के कारण 250 एंबुलेंस कर्मचारियों के पेट पर लात मारी गई है।

सरकार की गलत नीतियों के कारण आउटसोर्स पर नौकरी देने वाली कंपनियां तो लगातार अमीरी के आसमाना को छू रही हैं जबकि रात-दिन एंबुलेंस सर्विस देने वाले कर्मचारियों को उनके काम का पूरा वेतन तक नहीं मिल पा रहा है। राणा ने चेतावनी दी है कि एंबुलेंस कर्मचारियों के साथ अन्याय कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस सड़क से लेकर विधानसभा तक सरकार को घेरेगी। इस अवसर पर ये रहे मौजूद पूर्व उपप्रधान अश्वनी कुमार, भाग सिंह, सूबेदार परस राम, सूबेदार जीत सिंह, सूबेदार रमेश, कैप्टन बलविंदर रंगड़ा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ज्योति प्रकाश, महासचिव डॉ अशोक राणा व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News