केंद्रीय विवि और केंद्रीय पीडब्ल्यूडी के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

punjabkesari.in Wednesday, Nov 03, 2021 - 04:12 PM (IST)

धर्मशाला (नवीन): हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के धर्मशाला और देहरा में बनने जा रहे परिसरों में शैक्षिणक-शिक्षकेतर से लेकर विद्यार्थियों तक सभी को बेतहर सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। इसी संबंध में मंगलवार को केंद्रीय विश्वविद्यालय व केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के बीच मंगलवार को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला और देहरा में बनने वाले परिसरों को, इसके बाद में निर्धारित नियमों और शर्तों पर केंद्रीय लोक निर्माण विभाग को परियोजना के रूप में सौंपने के लिए सहमत हो गया है और जबकि केंद्रीय लोक निर्माण विभाग अपने विशेष महानिदेशक के माध्यम से, परियोजना क्षेत्र चंडीगढ़ तदनुसार कार्य/परियोजना को शुरू करने और पूरा करने के लिए सहमत हो गया है। इस अनुबंध के अनुसार अब केंद्रीय लोक निर्माण विभाग हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के स्थायी परिसर की स्थापना के लिए अपने अधीक्षण अभियंता या उससे ऊपर के रैंक के अधिकारी के अधीन एक अलग इकाई/परियोजना प्रभाग बनाएगा, जिससे काम सुचारू और शीघ्र गति से चल पाए। केंद्रीय वि.वि. धर्मशाला और देहरा में बनने जा रहे परिसरों में अकादमिक भवनों, छात्र-छात्रा आवास, स्वास्थ्य केंद्र, खेल मैदान, म्यूजियम, स्मार्ट क्लास, शापिंग कांप्लेक्स व अन्य सभी सुविधाएं मुहैया करवाने जा रहा है।
वि.वि. की संशोधित विस्तृत परियोजना रिपोर्ट भी तैयार
केंद्रीय लोक निर्माण विभाग देहरा और धर्मशाला में सृजित की जाने वाली वि.वि. के स्कूलों की भूमि, विभाजन और अन्य बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता के अनुसार वि.वि. की संशोधित विस्तृत परियोजना रिपोर्ट भी तैयार करेगा। सभी इंजीनियरिंग कार्यों में परियोजना निष्पादन के लिए अनुबंध के ई.पी.सी. मोड को अपनाया जाएगा। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग निर्माण बुनियादी ढांचे के पूरा होने के बाद एक वर्ष की अवधि के लिए परिदृश्य और बागवानी परियोजनाओं को बनाए रखने के लिए भी जिम्मेदार होगा। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग हर महीने/तिमाही में सी.यू.एच.पी. को भौतिक और वित्तीय प्रगति विवरण प्रस्तुत करेगा। निर्माण कार्य की गुणवत्ता बनाए रखने के साथ-साथ परिसरों के त्वरित निर्माण के लिए, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग समग्र इस्पात संरचना और निर्मित डिजाइन का अनुभव रखने वाली एजेंसी की नियुक्ति सुनिश्चित करेगा।
निर्माण की गुणवत्ता से समझौता नहीं
केंद्रीय लोक निमार्ण विभाग यह सुनिश्चित करेगा कि किसी भी समय किसी भी स्थान पर निर्माण की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाएगा। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग लागत में वृद्धि से बचने के लिए निर्माण कार्यक्रम के अनुसार परियोजना का समय पर और लागत प्रभावी समापन सुनिश्चित करेगा। उपकरण, फ र्नीचर, फि क्स्चर इत्यादि सहित सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, आई.टी., इलेक्ट्रॉनिक्स एच.वी.ए.सी. कार्यों आदि के लिए गुणवत्ता नियंत्रण प्रक्रियाओं और चेकलिस्ट स्थापित करके परियोजना की गुणवत्ता और सुरक्षा प्रबंधन सुनिश्चित करेगा। सी.पी.डब्ल्यू.डी. विश्वविद्यालय की सहमत बेंचमार्क और गुणवत्ता अपेक्षाओं के अनुरूप सामग्री की गुणवत्ता और कारीगरी की नियमित रूप से जांच करेगा। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग काम की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए ठेकेदार द्वारा किए गए सभी महत्वपूर्ण परीक्षणों और निरीक्षणों ऑन-साइट और ऑफ. साइट दोनों की जांच करेगा। वि.वि. के कुलपति प्रो. सत प्रकाश बंसल ने कहा कि वि.वि. धर्मशाला और देहरा में जल्द से जल्द काम शुरू करवाने जा रहा है। वि.वि. एक शोध विवि के रूप में अपनी छवि बनाएगा। ई-गर्वनेंस पर फ ोकस किया जाएगा।
यह अधिकारी रहे मौजूद
इस मौके पर वि वि. की तरफ से कुलसचिव प्रो. विशाल सूद, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. प्रदीप कुमार, जनसंपर्क निदेशक डा. सुमन शर्मा, वित्त अधिकारी नरेंद्र कुमार और रिषभ शर्मा आदि मौजूद रहे। वहीं केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की ओर से विशेष महानिदेशक अनंत कुमार, अधिशाषी अभियंता बलवीर चौधरी, एस.ई. राजीव कुमार, सा.ओ.ए. सुजेश कपूर और ए.ई. राजेंद्र मीणा मौजूद रहे।

 

 

 

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Rajneesh Himalian

Related News

Recommended News