हिमाचल में आज भी भारी बारिश का पूर्वानुमान, मौसम विभाग ने जारी किया आॅरेंज अलर्ट

7/20/2021 12:29:25 PM

शिमला : हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को भी भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है। प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश व कुछ हिस्सों मं हल्की बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने आज भी भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में 25 जुलाई तक मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। उधर, चंबा में भरमौर-पठानकोट नेशनल हाईवे गैहरा के पास भूस्खलन से बाधित हो गया है। प्रदेश में अब तक हुई बारिश के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश में हो रही बारिश फिलहाल आफत की बारिश बन गई है। बारिश के हाईवे पर वाहनों की आवाजाही बुरी तरह प्रभावित है। वहीं, चंबा-तीसा मार्ग भारी बारिश के बाद भूस्खलन से नकरोड बाजार के पास बंद हो गया। सूचना मिलने के बाद विभागीय मशीनरी मौके के लिए रवाना हुई। 

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने अगले तीन घंटों के दौरान प्रदेश के कांगड़ा, बिलासपुर, ऊना, हमीरपुर, चंबा और मंडी में मध्यम से भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। जबकि इस दौरान शिमला, कुल्लू, सोलन और सिरमौर में हल्की बारिश की संभावना है। बता दें देवभूमि हिमाचल प्रदेश में एक सप्ताह बाद फिर सक्रिय हुए मानसून ने सोमवार को जमकर तबाही मचाई थी। अलग-अलग हादसों में दो लोगों की मौत हो गई है थी जबकि दो अब भी लापता हैं। अकेले कांगड़ा, हमीरपुर और चंबा में ही 16 से ज्यादा घर और दुकानें ध्वस्त हो गईं। कारें-पुल बह गए। प्रदेश भर में बिजली के करीब 140 ट्रांसफार्मर और पानी की दर्जनों योजनाएं ठप हैं। जगह-जगह भूस्खलन से करीब 200 छोटी-बड़ी सड़कें बंद हैं। हालांकि, कुछ सड़कों को बहाल कर दिया गया है।  

सैलानियों और स्थानीय लोगों से नदी-नालों से दूर रहने की अपील की गई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि जहां भी सड़क अवरुद्ध होती है, उसे रिस्टोर किया जाए। उन्होंने पर्यटकों से आग्रह किया है कि वे नदी, नालों और पानी वाली जगहों पर न जाएं। भारी बारिश से नदी-नाले ऊफान पर हैं। ऐसे में इनके नजदीक जाना खतरनाक साबित हो सकता है। इसको देखते हुए प्रशासन ने एहतियात बरतने की सलाह दी है।प्रदेश में पिछले 24 घंटे में सुंदरनगर में 26.1 मिमी, कांगड़ा 69.2, धर्मशाला 119, बिलासपुर 10.0, डलहौजी 77.0, मंडी 36.1, ऊना 5.4, शिमला 24.4 मिमी बारिश दर्ज की गई है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Recommended News

static