स्वर्ग प्रवास से लौटे देवताओं ने की भविष्यवाणी, जानिए मानव जगत के लिए कैसा रहेगा वर्ष 2023

punjabkesari.in Sunday, Feb 26, 2023 - 08:09 PM (IST)

पतलीकूहल (ब्यूरो): ऐतिहासिक गांव गोशाल के आराध्य देव स्वर्ग प्रवास से लौट आए हैं। देवताओं के लौटते ही मंदिरों में बंधी घटियां खोल दी गईं व कपाट भी खुल गए। 42 दिनों के बाद स्वर्ग प्रवास से लौटे कुल्लू घाटी के आराध्य देवों ने रविवार को भविष्यवाणी की। देवताओं ने गुर के माध्यम से मानव जगत के लिए वर्ष 2023 मिलाजुला बताया। स्वर्ग प्रवास से लौटे महर्षि गौतम, महर्षि व्यास व कंचन नाग द्वारा कुल्लू घाटी के लोगों की उपस्थिति में दुनियाभर में होने वाले घटनाक्रम से अवगत करवाया गया। सुबह ही ऐतिहासिक गांव देव वाद्ययंत्रों से गूंज उठा। अपने आराध्य देवों के स्वर्ग प्रवास से लौटने को लेकर उत्सुक ग्रामीणों व देवता के कारकूनों ने विधिपूर्वक देवताओं का स्वागत किया। दोपहर बाद देवता के कारकूनों ने देव वाद्ययंत्रों के बीच देव विधि से कार्रवाई शुरू की। घाटी के लोगों ने गोशाल गांव में दस्तक देकर अपनी उत्सुकता प्रकट की। 

मृदा लेप से निकलीं ये चीजें 
कारकूनों व पुजारियों द्वारा पूजा-अर्चना के बाद विधिपूर्वक मृदा लेप को हटाया गया। देवता के गुर व कारकूनों ने देव विधि को पूरा किया। मृदा लेप से कुमकुम, फूल, अनाज का छिलका व सेब के पत्ते निकलने से ग्रामीण खुश हुए, वहीं इसमें बाल, रेत, पेड़ की जड़, पत्थर व कोयला भी निकला है। देवता ने वर्ष 2023 दुनिया के लिए कुछ अच्छा तो कुछ बुरा बताया है। उन्होंने गुर के माध्यम से कहा कि घाटी में इस बार सेब की फसल मिलीजुली रहेगी। बाढ़ का डर सताएगा तथा अग्निकांड की भी घटनाएं होंगी। देवता के कारदार हरि सिंह ने बताया कि कुल मिलाकर यह वर्ष मिलाजुला रहेगा। बहरहाल देवताओं के स्वर्ग प्रवास से लौटते ही घाटी में देव प्रतिबंध हट गया है और ग्रामीण फागली उत्सव में व्यस्त हो गए हैं।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News