घर का रास्ता बंद हुआ तो धरने पर बैठे बुजुर्ग दंपती

9/16/2020 3:48:53 PM

हमीरपुर (अरविंदर) : उपायुक्त कार्यालय के गेट पर पडोसी के खिलाफ घर का रास्ता बंद करने व जान से मारने धमकी देने पर प्रशासन के द्वारा कोई भी कार्यवाही नही किए जाने के खिलाफ में बुजुर्ग दम्पती धरने पर बैठ गए है। हमीरपुर पहुंचे दंपति ने उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक को इसकी शिकायत भी की और न्याय दिलवाने की मांग की। दंपति ने आरोप लगाया है कि पड़ोसी उनकी सम्पति को भी नुकसान पहुंचा रहे है और इनकी दुकान का रास्ता व दुकान पर आने वाले ग्राहकों को रोक रहे है। वहीं सराहकड के पंचायत प्रधान दलजीत सिंह का कहना है कि इस दंपति से दूरभाष पर बात करनी चाही लेकिन इनका फोन बंद आ रहा था। उसके बाद एसडीएम हमीरपुर के माध्यम से इनके हमीरपुर होने की सूचना मिली। जिसके बाद इन्हें घर ले जाया गया पंचायत द्वारा मामले की आगामी कार्रवाही की जा रही है। 

जिला मुख्यालय के साथ लगते ब्रहमाणी के एक परिवार ने उनके घर का रास्ता बंद करने व संपति की तोड़फोड़ करने की शिकायत करने के बाद उपायुक्त कार्यालय पर धरना शुरू कर दिया है। बुजुर्ग दंपति का कहना है कि उनका पड़ोसी आए दिन जान से मारने की धमकी देता है जिसके कारण उन्हे घर जाने से डर लग रहा है। पुलिस अधीक्षक को दिए शिकायत पत्र में बालम राम ने कहा कि उन्होंने 2001 में जमीन खरीदने के बाद 2002 में धरातल पर चार दुकानें व उपर रिहायश बनाकर रहने लगे। मगर 6 सिंतबर 2020 को इनकी दुकाने के आगे सड़क के साथ लगती जमीन पर पड़ोसी जिससे इन्होंने जमीन खरीदी थी, ने गडढा करके इनका रास्ता बंद कर दिया और आवाजाही करने पर लड़ाई झगड़ा करते है। 

बालम राम ने बताया कि पडोसी द्वारा घर का रास्ता बंद करने शिकायत प्रशासन से करने के बाद से उनका व उनकी पत्नी को जान से मारने धमकी दी जा रही है। प्रशासन ने आजतक कोई भी कार्यवाही नही की है, जिसके कारण उन्होंने पत्नी सहित धरना देने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि डर के कारण घर पर भी जा नहीं पा रहे है। उन्होंने प्रशासन से जल्द न्याय दिलवाने की मांग की। 

शिकायतकर्ता की पत्नी हीरामणी ने बताया कि पिछले कल जब उनके पति प्रशासन से शिकायत करने हमीरपुर गए हुए थे तब इनके पडोसी दुकान के शटर को तोड़ने की कोशिश कर रहे थे और अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि डर के कारण घर के अंदर चली गई और पति को सारी सूचना दी। वहीं सराहकड के पंचायत प्रधान दलजीत सिंह का कहना है कि इस दम्पति से दूरभाष पर बात करनी चाही लेकिन इनका फोन बंद आ रहा था। प्रधान का कहना है कि घर पर भी इनका इन्तजार किया लेकिन ये घर पर मौजूद नहीं थ।े उसके बाद एसडीएम हमीरपुर के माध्यम से इनके हमीरपुर होने की सूचना मिली। जिसके बाद इन्हें घर ले जाया गया पंचायत द्वारा मामले की आगामी कार्रवाही की जा रही है।
 


prashant sharma

Related News