सरकारी स्कूलों में रोबोटिक्स एंड आर्टिफिशियल इटेलिजेंस सिस्टम के लिए पढ़ाई जरूरी : शरद खन्ना

punjabkesari.in Saturday, Dec 04, 2021 - 04:40 PM (IST)

कुल्लू (दिलीप) : विदेशों की तर्ज पर हिमाचल प्रदेश के छात्रों के भी अब रोबोटिक्स एंड आर्टिफिशियल इटेलिजेंस सिस्टम की पढ़ाई को लेकर सरकार ने पायलेट वेसिस पर प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है। जिसको लेकर आस्टेलिया की ऐरोबोटिक्स ग्लोबल कंपनी के द्वारा स्कूलों में कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कुल्लू जिला में सुल्तानपुर सीनियर सैंकंडरी गर्ल्स स्कूल में 1 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन गया जिसमें 2 दर्जन से अधिक छात्रों को रोबोटिक्स एंड आर्टिफिशियल इटेलिजेंस सिस्टम व उसकी कोडिंग को लेकर जानकारी दी गई। 

ऐरोबोटिक्स ग्लोबल कंपनी के डायरेक्टर शरद खन्ना ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार शिक्षा विभाग के साथ समग्र शिक्षा अभियान के तहत पाईलेट वेसिस पर रोबोटिक्स एंड आर्टिफिशियल इटेलिजेंस पर विभिन्न स्कूलों में कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है जिसमें 6 से लेकर 12वीं तक के छात्रों को रोबोटिक्स एंड आर्टिफिशियल इटेलिजेंस के बारे में जानकारी दी जा रही है। उन्होंने कहाकि हिमाचल प्रदेश में बच्चे रोबोटिक्स के बारे में सुनते है लेकिन उनको इस बारे में जानकारी नहीं है, लेकिन इस पाईलेट प्रोजेक्ट के तहत छात्रों को रोबोट कैसा होता है, कैसे काम करता है, आर्टिफिशियल इटेलिजेंस सिस्टम क्या है, इसकी कोडिंग कैसे की जाती है।

इस तरह की आधुनिक तकनीक के बारे में जानकारी दी जा रही है। उन्होंने कहाकि इस कार्यशाला के बाद बच्चों की रूचि, अध्यापक रिस्पोंस कैसा है इसको लेकर एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी, जिसके बाद आने वाले साल में इस तरह की रेगुलर कार्यशाला आयोजित की जा सकेगी। उन्होंने कहाकि इस डिजिटल टेक्नॉलजी के साथ कंप्यूटर, मोबाइल का प्रचलन बढ़ गया है, ऐसे में कंप्यूटर सॉफ्टवेयर मोबाईल ऐप का ज्ञान जरूरी होना चाहिए। जिससे इस प्रकार की आधुनिक तकनीक के बारे में शिक्षा सिस्टम में जरूरी है। उन्होंने कहाकि शिक्षण संस्थानों में लैब में बच्चों के इस चीज के बारे में जानकारी देना जरूरी है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News