तिरंगे में लिपटा घर पहुंचा बेटा, फूट-फूट कर रोया परिवार

तिरंगे में लिपटा घर पहुंचा बेटा, फूट-फूट कर रोया परिवार

अम्ब: अम्ब के निकटवर्ती ग्राम पंचायत मंदौली के अधीन पड़ते गांव मथेहड़ के 19 वर्षीय सैनिक की बीमारी के कारण मौत हो गई। पीलिया से ग्रस्त सैनिक रोहित पुत्र नरेश कुमार पिछले कुछ दिनों से सैनिक अस्पताल दिल्ली में उपचाराधीन था। गत 9 नवम्बर सायं उसने आखिरी सांस ली। रविवार सुबह 94, मीडियम रैजीमैंट के सूबेदार किशन कुमार, हवलदार कमल किशोर, लांस नायक विकास व डी.एम.टी. सौरभ पर आधारित सैनिक टुकड़ी तिरंगे में लिपटी सैनिक रोहित की पार्थिव देह को लेकर जैसे ही गांव पहुंची तो पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। अपने इकलौते बेटे रोहित की अकस्मात हुई मौत की सूचना पाकर उसके परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। माता बीना देवी, छोटी बहन कंचन व पिता नरेश कुमार सहित परिवार के अन्य सदस्यों का रो-रो कर बुरा हाल है। 

डेढ़ वर्ष पहले सेना में भर्ती हुआ था रोहित
बताया जा रहा है कि करीब डेढ़ वर्ष पहले रोहित सेना में भर्ती हुआ था और कुछ अर्सा पहले ट्रेनिंग करने के बाद घर पर छुट्टी आया हुआ था। उसकी पार्थिव देह को लेकर गांव पहुंचे सूबेदार किशन कुमार ने बताया कि रोहित बीकानेर (राजस्थान) में पोस्ट था। कुछ दिन पहले उसे पीलिया हो गया, जिसे उपचार के लिए एम.एच. दिल्ली लाया गया लेकिन यहां अस्पताल में उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ। कुछ दिन तक तो उसे वैंटीलेटर (आई.सी.यू.) में रखा गया। रविवार को उसके पैतृक गांव मथेहड़ में सैनिक सम्मान के साथ लोगों ने उसे अंतिम विदाई दी जबकि इस मौके पर कुलदीप कुमार ने भी श्मशानघाट पर सैनिक राहुल के पार्थिव देह पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!