इस वर्ष भी स्कूली खेलकूद प्रतियोगिताओं के कोरोना की भेंट चढ़ने के आसार

5/5/2021 11:06:26 AM

धर्मशाला (नवीन): कोविड-19 के कारण स्कूल बंद हैं। विद्यार्थी केवल अपने घरों में ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। लगातार दूसरे वर्ष स्कूली खेलकूद प्रतियोगिताओं के कोरोना की भेंट चढऩे के आसार हैं। खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्कूलों में शिक्षा विभाग हर साल बच्चों के लिए खेल प्रतियोगिता करवाता है जिसमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को अपनी खेल प्रतिभाओं के प्रदर्शन का मौका मिलता था लेकिन कोरोनाकाल में पिछले वर्ष जहां स्कूली खेलकूद प्रतियोगिताएं न होने से काफी संख्या में खिलाड़ी खेलने से वंचित रह गए तो इस वर्ष भी ऐसी संभावनाएं जताई जा रही हैं। शिक्षा विभाग कई तरह की खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन ब्लॉक, जिला व राज्यस्तर पर करता है। ब्लॉक स्तर पर खेलें जून माह से शुरु हो जाती थी तथा मई महीने में इसकी तैयारियां भी शुरु हो जाती थी। नवम्बर महीने से प्रदेश स्तरीय खेलें शुरु हो जाती थी। यहां पर जो खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन करते हैं वे राष्ट्रीय स्तर पर भी जाते हैं। शिक्षा विभाग की ओर से विभिन्न आयु वर्गों की खेल प्रतियोगिता का आयोजन न होने से खिलाडिय़ों में मायूसी छायी है। खिलाड़ी छात्र-छात्राओं का कहना है कि स्कूली खेल गतिविधियां बंद होने से शारीरिक फिटनेस पर भी प्रभाव पड़ रहा है। हालांकि बच्चे गलियों में खेलते देखे जा रहे हैं लेकिन उन्हें उचित मार्गदर्शन प्राप्त नहीं हो पा रहा है।


Content Writer

Jinesh Kumar

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static