बोर्ड की परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों में गलतियां पाए जाने वाले शिक्षकों पर गिरी गाज

12/3/2019 10:06:18 AM

धर्मशाला (नवीन): हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा बोर्ड परीक्षाओं के लिए तैयार किए जा रहे प्रश्न पत्रों में प्रश्नों की गलतियां करने पर अध्यापकों पर कार्रवाई की गई है। बोर्ड की ओर से लगभग ऐसे 20 शिक्षकों को हटा दिया गया है जिन्होंने प्रश्नों में गलतियां की हैं। उक्त शिक्षकों को प्रश्न पत्र तैयार करने वाले शिक्षकों के पैनल में नहीं रखा जाएगा। अब उक्त शिक्षकों को बोर्ड द्वारा आयोजित कार्यशाला में आने के लिए कहा गया है ताकि यहां से वह पेपर किस तरह सैट किए जाते हैं, सीख सकें। जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड पहले ही यह निर्णय ले चुका है कि बोर्ड की परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों में गलतियां पाए जाने पर प्रश्न पत्र तैयार करने वाले शिक्षकों को पैनल में नहीं रखा जाएगा। ऐसे शिक्षकों का पैनल बनाया जाएगा जो ठीक प्रकार से पेपर सैट करें। विशेषकर बोर्ड की एन.सी.ई.आर.टी. आधारित पुस्तकों से ही प्रश्न पत्र बनाया जाए।

प्रश्न पत्र का आधार भी ऐसा हो कि 40 फ ीसदी प्रश्न इजी लेवल, 40 एवरेज लेवल और 20 फीसदी हार्ड लेवल के डाले जाएं। न्यूमैरिकल बेस्ड प्रश्नों पर फोकस किया जाए जिससे पता लगाया जा सके कि बच्चों ने किस तरह की तैयारी की है। यही नहीं एप्लीकेशन बेस्ड 50 फीसदी प्रश्न भी बनाने को कहा गया है, वहीं इन्फोर्मेटिव प्रश्न ज्यादा न पूछे जाएं। बोर्ड के अनुसार प्रश्न पत्र के मामले में बोर्ड में जीरो टॉलरैंस की नीति है तथा यदि कोई गलती पाई जाती है तो उन्हें डीवार कर दिया जाता है। इसके अलावा प्रिंटर की भी यदि कोई गलती पाई जाती है तो उन्हें भी डीवार कर देते हैं। प्रश्न पत्र में गलती के लिए जो भी जिम्मेदार होगा, उसका दायित्व सुनिश्चित करने की बात बोर्ड कर रहा है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले बोर्ड ने पेपर चैकिंग में गलती करने पर कुछ अध्यापकों को पेपर चैकिंग से हटा दिया था तथा उसके उपरांत जुर्माने का भी प्रावधान बोर्ड की ओर से कर दिया गया था।
 


kirti

Related News