परिवहन निगम का यात्रियों को झटका, जानने के लिए पढ़ें खबर

परिवहन निगम का यात्रियों को झटका, जानने के लिए पढ़ें खबर

पालमपुर : परिवहन निगम ने अपनी कुछ बस रूटों पर चलने वाली बसों में नि:शुल्क बस सुविधा प्राप्त यात्रियों तथा छूट पर यात्रा करने वाले यात्रियों को इस छूट से वंचित कर दिया है। ऐसे में इन सुविधाओं के पात्र व्यक्तियों को भी टिकट लेकर ही यात्रा करनी होगी। ऐसे में नि:शुल्क यात्रा की छूट प्राप्त करने वाले यात्रियों तथा छूट पर यात्रा करने वाले यात्रियों में रोष पनपने लगा है। परिवहन निगम तर्क दे रहा है कि इन बसों में पहले ही किराया कम होने के कारण छूट या नि:शुल्क यात्रा की सुविधा देना संभव नहीं है, परंतु छूट व नि:शुल्क यात्रा वर्ग के अंतर्गत आने वाले सुविधा प्राप्त व्यक्तियों के गले में यह तर्क नहीं उतर रहा है। परिवहन निगम के बैजनाथ डिपो के अंतर्गत चलने वाली बैजनाथ-शिमला वाया हमीरपुर बस सेवा जो प्रात: 8 बजे बैजनाथ से अपने गंतव्य की ओर रवाना होती है, इस बस में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों को टिकट लेना ही होगा। यही नहीं, बैजनाथ से पठानकोट प्रात: 6 बजे, प्रात: 7.10 पर तथा प्रात: 7.50 पर जो बसें चलती हैं, उनमें भी यात्रा करने वाले सभी यात्रियों को टिकट लेना अनिवार्य होगा। विदित रहे कि परिवहन निगम की बसों में पुलिस, दिव्यांग, शौर्य सम्मान प्राप्त, युद्ध विधवाओं तथा स्वतंत्रता सेनानियों को नि:शुल्क यात्रा की सुविधा प्राप्त है।

इन रूटों पर भी नि:शुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान करे
पुलिस विभाग प्रत्येक पुलिस कर्मचारी से निर्धारित राशि काटकर एकमुश्त राशि परिवहन निगम के पास जमा करवाता है। ऐसे में अब पुलिस कर्मी भी इस नि:शुल्क यात्रा से इन चिन्हित बसों में यात्रा नहीं कर पा रहे हैं वहीं छात्रों व कर्मचारियों को यैलो व ग्रीन कार्ड होल्डर, स्मार्ट कार्ड होल्डर तथा समूह में यात्रा करने वालों को विशेष छूट का प्रावधान परिवहन निगम की तरफ  से रहता है, परंतु इन रूटों पर इन छूट प्राप्त वर्गों को भी पूरा टिकट लेना होगा। जिला कांगड़ा पुलिस कल्याण संगठन के प्रधान ने कहा कि चूंकि पुलिस कर्मचारियों से धनराशि परिवहन निगम को जमा करवाई जाती है, ऐसे में पुलिस कर्मचारियों को इस सुविधा से वंचित किया जाना न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने कहा कि परिवहन निगम शीघ्र ही पुलिस कर्मचारियों को इन रूटों पर भी नि:शुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान करे, अन्यथा न्यायालय की शरण ली जाएगी। उधर, परिवहन निगम बैजनाथ के क्षेत्रीय प्रबंधक गोपाल शर्मा ने कहा कि इन बसों में अन्य व्यवसायों की अपेक्षा पहले ही कम किराया लिया जाता है तथा प्रति किलोमीटर किराए की दर अन्य वस्तुओं से कम है, जिस कारण नि:शुल्क में छूट प्राप्त यात्रियों को सुविधा नहीं दी जा रही है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में मामला उच्च अधिकारियों के समक्ष रखा गया है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !