कांग्रेस के ‘इस’ विधायक ने राष्ट्रीय सचिव पद से दिया इस्तीफा, जानिए क्यों

कांग्रेस के ‘इस’ विधायक ने राष्ट्रीय सचिव पद से दिया इस्तीफा, जानिए क्यों

ऊना: गगरेट के विधायक राकेश कालिया ने कांग्रेस के पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पद से त्यागपत्र दे दिया है। वह इससे पहले मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के सह प्रभारी पद पर भी रह चुके हैं। सवा 4 साल तक कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव पद पर काम करने के बाद उन्होंने अब इस दायित्व को छोड़ दिया है। इसके पीछे उन्होंने विस चुनावों में व्यस्तता का हवाला दिया है। इस संंबंध में सोशल मीडिया पर भी पोस्ट डाली गई है। उन्होंने अपनी पोस्ट में इतना ही कहा है कि वह अपने ए.आई.सी.सी. सैके्रटरी पद से रिजाइन कर चुके हैं। इस संबंध में राहुल गांधी को अवगत करवाया गया है। विस चुनावों में व्यस्तता के चलते इस पद से त्यागपत्र दिया गया है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से तीसरी बार विधायक बने राकेश कालिया का रुतबा कांग्रेस पार्टी में काफी अच्छा है। पहले चिंतपूर्णी क्षेत्र से भारी मार्जिन के साथ 2 बार विधायक बने। राकेश कालिया को अपना क्षेत्र अलग होने के बाद गगरेट आना पड़ा। पार्टी के बीच गतिरोध के बावजूद राकेश कालिया अच्छे मतों से विजयी रहे। इस समय वह गगरेट क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। 

विद्या स्टोक्स के काफी करीबी नेता
राकेश कालिया के विद्या स्टोक्स के साथ काफी निकट संबंध हैं। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से भी अब उनकी घनिष्ठता है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सुक्खू से लेकर पार्टी के सभी धड़ों के साथ मधुर संबंधों के चलते उनका नाम भी संभावित कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष पद के लिए लिया जा रहा है। कालिया के समर्थक बाकायदा इस मामले को लेकर सोशल मीडिया में भी अपनी बात रख रहे हैं। उनका कहना है कि यदि सुक्खू को हटाया जाता है तो सभी धड़ों से सामंजस्य रखने वाले कालिया को प्रदेशाध्यक्ष पद की कमान सौंपी जा सकती है। 

पद से काफी समय पहले ही हो चुके हैं मुक्त 
कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव पद से त्यागपत्र दिए जाने के मामले में प्रतिक्रिया व्यक्ति करते हुए उन्होंने कहा कि वह काफी समय पहले ही अपने पद से मुक्त हो चुके हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलकर उन्होंने पद छोडऩे की इच्छा जाहिर की थी ताकि वह विस चुनावों में ज्यादा समय दे सकें। कालिया ने कहा कि वह काफी समय से कांग्रेस के राष्ट्रीय कार्यालय में भी व्यस्तता की वजह से नहीं जा पा रहे थे जिससे इस पद को छोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी उन्हें जो भी दायित्व देंगे वह उसका बखूबी निर्वहन करेंगे। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!