छात्र ने खोला राज, इसलिए हैक की थी NIFT की साइट

छात्र ने खोला राज, इसलिए हैक की थी NIFT की साइट

कांगड़ा: 2 दिन पूर्व निफ्ट की साइट को हैक करने के आरोप में  पकड़े गए आरोपी अलोक कुमार निवासी बिहार ने पुलिस पूछताछ के दौरान बताया कि वह निफ्ट में अंतिम वर्ष का छात्र है और उसने अपना ग्रेड 6 से बढ़ाकर 10 कर लिया था। आरोपी को अदालत ने 21 जून तक पुलिस रिमांड पर भेजा दिया। डी.एस.पी. कांगड़ा सुरेंद्र शर्मा ने बताया कि पुलिस ने वे सभी लैपटॉप व कम्प्यूटर जिनका प्रयोग किया गया था, उनको कब्जे में ले लिया है और अब इनकी फोरैंसिक जांच करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिस छेब स्थित निफ्ट के उन सभी कर्मचारियों से पूछताछ कर रही है जोकि आई.टी. विभाग में इस परीक्षा परिणाम से जुड़े थे। 

साइक का हैक होना मुश्किल
अभी तक मिली जानकारी के अनुसार परिणाम भेजते समय इसे कई सुरक्षा मापदंडों व कई प्रकार के पासवर्ड से होकर गुजरना पड़ता है, इसलिए इतनी आसानी से साइट हैक नहीं हो सकती। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही उन सभी विद्यार्थियों से भी पूछताछ की जाएगी जिनके ग्रेड के साथ छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने बताया कि निफ्ट के मद्रास स्थित आई.टी. कार्यालय की टीम भी इस मामले में छानबीन कर रही है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !