पंडित नेहरू के अंगरक्षक की झलक जाती हैं आंखें, पढ़ें पूरी खबर

पंडित नेहरू के अंगरक्षक की झलक जाती हैं आंखें, पढ़ें पूरी खबर

हमीरपुर: जहां आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री स्व पं जवाहर लाल नेहरू की जयंती मना रहा है, वहीं पं नेहरू के अंगरक्षक नानक चंद को पं नेहरू की अनदेखी किए जाने पर मलाल है। हमीरपुर जिला के बजूरी गांव के रहने वाले 86 वर्षीय नानक चंद पं नेहरू के वर्ष 1952 से 1955 तक त्रिमूर्ति भवन में अंगरक्षक रह चुके हैं और आज पं नेहरू की जयंती के अवसर पर नानक चंद की आंखें भी उन्हें याद करके छलक आती हैं। पंडित नेहरू को भूलने की बात पर अब नानक चंद के द्वारा इसकी शिकायत जल्द ही पीएम मोदी से करने का मन बनाया है क्योंकि नानक चंद मानते हैं कि पं नेहरू ने जो देश के लिए किया है वह अमूल्य है। 
PunjabKesari

मोदी से मिलकर गलत चर्चाओं पर लगाएंगे विराम
नानक चंद का कहना है कि आज के समय में पंडित नेहरू को लेकर तरह तरह की टिप्पणियां सुनने को मिलती हैं लेकिन यह सब गलत है। और वास्तव में ऐसा कुछ नहीं है। उन्होंने बताया कि जल्द ही पीएम मोदी से मिलकर पं नेहरू के बारे में हो रही गलत चर्चाओं पर विराम लगाने के लिए कोशिश की जाएगी। क्योंकि पंडित नेहरू को भूलना धर्म के खिलाफ है। 

पंडित के खिलाफ सहन नहीं होते अपशब्द
गौरतलब है कि हमीरपुर के बजूरी गांव के निवासी नानक चंद स्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के साथ अंगरक्षक के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं और पंडित नेहरू के जीवन से स्वयं भी नानक चंद काफी प्रभावित हुए थे। लेकिन आज पंडित नेहरू के लिए अपशब्द सुनकर उन्हें बहुत दुख पहुंचता है। इसके चलते जल्द ही पीएम मोदी से भी मुलाकात कर बातों पर विराम लगाना चाहते हैं।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!