अब उठेगा वन रक्षक की मौत के कारणों से पर्दा, तैयार हुई यह रिपोर्ट

अब उठेगा वन रक्षक की मौत के कारणों से पर्दा, तैयार हुई यह रिपोर्ट

मंडी: वन रक्षक होशियार सिंह की मौत के मामले में सबसे अहम एस.एफ.एल. की रिपोर्ट तैयार हो गई है। यह रिपोर्ट सोमवार को एस.एफ.एल. की तरफ से पुलिस व सी.आई.डी. को दी जाएगी, जिससे हत्या और आत्महत्या के बीच पहली बन कर रह गई फोरैस्ट गार्ड की मौत के कारणों से पर्दा उठ जाएगा। एस.एफ.एल. रिपोर्ट मिलने के बाद इस बात का खुलासा हो जाएगा कि होशियार सिंह की मौत किस वजह से हुई है। उसकी मौत के पीछे पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों व पुलिस ने जहर को मौत का प्रारंभिक कारण बताया था, जिसकी पुष्टि एस.एफ.एल. की रिपोर्ट से होगी।

जहर की पुष्टि नहीं हुई तो उलझ जाएगा मामला
अगर एस.एफ.एल. की रिपोर्ट में जहर की पुष्टि नहीं होती है तो यह मामला और उलझ जाएगा क्योंकि होशियार सिंह के शरीर पर कहीं पर भी ऐसा कोई घाव और चोट के निशान नहीं मिले हैं, जिससे उसकी मौत हुई हो। वहीं अगर एस.एफ.एल. की रिपोर्ट में जहर की पुष्टि होती है तो मामले में कई अनसुलझी कडिय़ां आपस में जुड़ेंगी। 

यह रहेगा बड़ा सवाल
हालांकि इसके बाद भी यही बड़ा सवाल रहेगा कि होशियार सिंह ने क्या जहर खुद खाया या फिर उसे जहर खिलाया गया। इसके साथ ही जहर खाने के बाद वह पेड़ पर क्यों व कैसे चढ़ा, यह भी सी.आई.डी. को जांच में सिद्ध करना पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक एस.एफ.एल. की रिपोर्ट में जहर होने की बात बताई जा रही है लेकिन इसकी अधिकारिक पुष्टि रिपोर्ट आने के बाद ही होगी। 

मंडी पुलिस ने सी.आई.डी. को सौंपा रिकार्ड
इस मामले में अब मंडी पुलिस ने रिकार्ड सी.आई.डी. के हवाले कर दिया है व सी.आई.डी. की टीम करसोग भी पहुंच गई है। सी.आई.डी. की टीम रविवार से मामले में अपनी जांच शुरू करेगी, वहीं सोमवार तक मोबाइल कंपनियों से हादसे की जगह पर सिग्रल स्टैं्रथ की रिपोर्ट भी आ जाएगी, जिसके बाद कई और कडिय़ों को आपस में जांच अधिकारी जोड़ सकेंगे। 

एक और अहम रिपोर्ट आनी शेष
हालांकि इस मामले में अभी एक और अहम रिपोर्ट आनी शेष है। होशियार सिह के बैग और क्वार्टर से मिले सुसाइड नोट के साथ उसकी लिखावट के नमूनों के मिलान की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। इस रिपोर्ट के आने के बाद ही यह पता चलेगा कि सुसाइड नोट होशियार सिंह ने लिखा है या नहीं।  ए.एस.पी. मंडी कुलभूषण वर्मा ने बताया कि सी.आई.डी. की टीम पहुंच गई है और रिकार्ड उनके हवाले कर दिया गया है।

आरोपियों का 3 दिन का रिमांड और बढ़ा
इस मामले में गिरफ्तार चल रहे 6 आरोपियों को कोर्ट ने 3 दिन के और पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। यह तीसरी बार है जब इस मामले में आरोपियों को पुलिस रिमांड मिला है। शनिवार को करसोग पुलिस की तरफ से ही आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!