कसौली छात्र आत्महत्या मामला: पुलिस की कार्रवाई से परिजन-ग्रामीण असंतुष्ट

कसौली छात्र आत्महत्या मामला: पुलिस की कार्रवाई से परिजन-ग्रामीण असंतुष्ट

सोलन (चिनमय): शिमला के कोटखाई में हुए गुड़िया गैंगरेप और दिल्ली के प्रद्युम्न कांड के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली से लोगों का विश्वास उठता जा रहा है। कुछ ऐसा ही मामला कसौली में हुआ था। जहां दिसंबर में सोलन के कसौली इंटरनेश्नल स्कूल में 10वीं के छात्र दीपेश की संदिग्ध परिस्थियों में मौत हो गई थी। इस मामले में सोलन पुलिस खाली हाथ है। पुलिस की अब तक कार्रवाई से गांववासी और परिजन असंतुष्ट दिख रहे हैं, जिसके चलते वह सोमवार को जिला पुलिस अधीक्षक मोहित चावला के पास इंसाफ की गुहार लगाने पहुंचे। उन्होंने कहा कि उनका बेटा शिक्षा में अव्वल रहता था और वह आत्महत्या नहीं कर सकता था। इसलिए वह चाहते हैं कि इस मामले में बिना किसी दवाब के पुलिस मामले की छानबीन करे। 
PunjabKesari

इस मौके पर गड़खल गांव की प्रधान मधु शर्मा ने ठियोग मामले का उदाहरण देते हुए कहा कि मामला कुछ होता है और हकीकत कुछ होती है। इस केस में भी उन्हें यह प्रतीत हो रहा था कि पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है, लेकिन जिला पुलिस अधीक्षक मोहित चावला ने उन्हें विशवास दिलाया है कि वह उन्हें इंसाफ दिला कर रहेंगे। जिसकी वजह से उन्हें आस बंधी है कि उन्हें इंसाफ जल्द मिलेगा लेकिन अगर इंसाफ नहीं मिलता है उस स्थिति से भी निपटने को वह तैयार है। 
PunjabKesari

ये है मामला
सोलन के नामी कसौली इंटरनेशनल स्कूल में संदिग्ध हालात में नाबालिग छात्र की लाश मिली थी। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि छात्र ने आत्महत्या की है, वहीं परिजनों का आरोप है कि छात्र की हत्या की गई है। जानकारी के अनुसार, दिनेश ठाकुर दसवीं का छात्र था। छात्र परीक्षा बीच में ही छोड़कर कमरे की ओर गया और कुछ देर बाद गैलरी में फंदे से लटका मिला था। 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन