यहां पागल कुत्ते ने मचाया आतंक, आधा दर्जन लोगों को काटा

यहां पागल कुत्ते ने मचाया आतंक, आधा दर्जन लोगों को काटा

सुजानपुर: शुक्रवार रात्रि करोट पंचायत के बडई, सरगहूण, बलेहू के साथ अन्य गांवों में एक आवारा कुत्ते ने आधा दर्जन लोगों को काट खाया। कुत्ते के पागल होने की खबर से पंचायत में दहशत का माहौल बना हुआ है। पंचायत उपप्रधान डा. जयगोपाल राणा ने बताया कि शुक्रवार की रात को बडई गांव के अमरजीत पुत्र गरीब दास को पागल कुत्ते ने अपना शिकार बनाया जिस पर उसके परिजन उसे सिविल अस्पताल सुजानपुर ले गए। परिजनों के अनुसार अस्पताल में वैक्सीन का टीका न होने के कारण उन्हें मैडीकल स्टोर से करीब 300 रुपए में टीका खरीदकर लाना पड़ा। उसके बाद अमरजीत को टांडा अस्पताल रैफर कर दिया गया। 

अस्पताल में टीका उपलब्ध न होना हैरत की बात
उन्होंने हैरानी जताई कि इस तरह के टीके प्रत्येक अस्पताल में उपलब्ध होते हैं मगर सिविल अस्पताल में टीका न होना हैरत की बात है। इसके अलावा पागल कुत्ते ने उसी रात सरगूहण के भगवान दास व बलेहू गांव के जोगिंद्र कुमार को भी काटा। उपप्रधान ने बताया कि पंचायत में इस पागल कुत्ते को मारे जाने का प्रस्ताव दिया गया है ताकि पागल कुत्ता अन्य किसी इंसान या जानवर को अपना शिकार न बना सके।

ए.आर.सी. इंजैक्शन टांडा व आई.जी.एम.सी. में ही उपलब्ध : बी.एम.ओ.
बी.एम.ओ. सुजानपुर डा. सुभाष चंद शर्मा ने बताया कि पागल कुत्ते के काटे जाने पर 2 तरह के इंजैक्शन लगाए जाते हैं जिसमें ए.आर.बी. व ए.आर.सी. होते हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में ए.आर.बी. इंजैक्शन उपलब्ध था मगर ए.आर.सी. इंजैक्शन न होने के कारण घायलों को टांडा अस्पताल रैफर किया गया क्योंकि यह इंजैक्शन जख्म पर लगाया जाता है तथा यह इंजैक्शन टांडा व आई.जी.एम.सी. में ही उपलब्ध होता है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!