Sting Operation के नाम पर SDO से मांगे 10 लाख, 3 गिरफ्तार

Sting Operation के नाम पर SDO से मांगे 10 लाख, 3 गिरफ्तार

नाहन: एक तरफ चौथा स्तंभ अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाते हुए आम जन की समस्याएं उठा रहा है तो वहीं कुछ फर्जी लोग पत्रकारिता के नाम पर लाखों ऐंठने की फिराक में रहते हैं। ऐसा ही खुलासा जिला के औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में पेश आया है जहां देहरादून (उत्तराखंड) निवासी 3 लोगों ने स्वयं को पत्रकार बता बिजली बोर्ड के एक सहायक अभियंता से स्टिंग के नाम पर 10 लाख रुपए की डिमांड रख दी। जिसके बाद 5 लाख रुपए में मामले में समझौता हुआ लेकिन इस बीच पुलिस ने तीनों आरोपियों को जिला मुख्यालय नाहन से दबोच लिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों से प्रैस लिखे कार्ड बरामद हुए हैं, जिसके बाद अब जांच की जा रही है कि आरोपी किसी चैनल में काम करते हैं, या फर्जी तरीके से कार्ड बनवाए गए हैं। 

10 लाख रुपए दो नहीं तो चैनल पर चला देंगे स्टिंग
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिरमौर विनोद धीमान ने बताया कि कालाअंब में देहरादून निवासी 3 लोग करीब एक सप्ताह पहले विद्युत बोर्ड के सहायक अभियंता से मिले और एक टैलीकॉम कंपनी के टावर लगाने को लेकर दस्तावेज व अनुमति बारे जानकारी ली, जिसके कुछ समय बाद आरोपियों ने सहायक अभियंता को बताया कि उन्होंने उसका स्टिंग आप्रेशन किया है और जिसकी उनके पास रिकॉर्डिंग भी है। उन्होंने सहायक अभियंता को बताया कि वह एक टी.वी. चैनल में काम करते हैं और स्टिंग को टी.वी. चैनल पर चलाएंगे। इसके बाद सहायक अभियंता से 10 लाख रुपए की मांग की गई कि यदि वह उक्त राशि उन्हें देता है तो स्टिंग को नहीं चलाया जाएगा। इसके बाद मामले में 5 लाख रुपए में समझौता हुआ और सहायक अभियंता ने उन्हें नाहन में एक बैंक शाखा से पैसे निकालकर देने के लिए बुलाया। आरोपी बैंक शाखा के बाहर आ गए जिसके बाद सहायक अभियंता ने पुलिस से फोन पर शिकायत की और आरोपियों को दबोच लिया गया।

3 दिन के रिमांड पर भेजे आरोपी
ए.एस.पी. ने बताया कि शिकायत के बाद पुलिस टीम मौके पर पंहुची और आरोपी सनूज, शमीम व नदीम निवासी देहरादून (उत्तराखंड) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिनके कब्जे से प्रैस के कार्ड बरामद हुए हैं। जिस टी.वी. चैनल से संबंधित कार्ड बरामद हुए हैं, उससे जांच की जा रही है कि वह वहां पत्रकार थे या नहीं। उन्होंने बताया कि आरोपियों को अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें 12 सितम्बर तक पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश मिले हैं। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!