CM जयराम बोले-गुणवत्ता से समझौता व परियोजना में देरी सहन नहीं करेगी सरकार

CM जयराम बोले-गुणवत्ता से समझौता व परियोजना में देरी सहन नहीं करेगी सरकार

शिमला: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार सरकारी कार्य में गुणवत्ता के साथ किसी तरह का समझौता नहीं करेगी, साथ ही परियोजनाओं में अनावश्यक देरी को भी सहन नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री 2018-19 की वार्षिक योजना के लिए विधायकों की प्राथमिकताओं को अंतिम रूप देने के लिए आयोजित की गई बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। पहले सत्र में मंगलवार को कांगड़ा तथा किन्नौर जिलों के विधायकों ने बैठक में हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री ने लागत और अधिक समय से बचने के लिए विकास योजनाओं को समयबद्ध पूरा करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कार्यान्वयन चरण में योजनाओं की नियमित रूप से निगरानी करना आवश्यक है। 

गुणवत्ता के साथ समझौता करने वालों को न दें काम
उन्होंने ऐसे ठेकेदारों को काम न देने पर बल दिया जो काम की गुणवत्ता के साथ समझौता करते हैं और परियोजनाओं में अनावश्यक देरी करते हैं। उन्होंने वित्त वर्ष के अंत में धनराशि को वापस करने की बजाय बजट का समय पर उपयोग करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कनैक्टीविटी को बेहतर बनाने की आवश्यकता है और पर्याप्त बजट प्रावधान के साथ पहले से ही स्वीकृत परियोजनाओं पर किस प्रकार कार्य किया जाए, इस बारे जानने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने भाजपा के दृष्टि पत्र को सरकारी दस्तावेज के रूप में अपनाया है। 

केंद्र सरकार के समक्ष रखेंगे 100 की आबादी वाले गांवों का मामला
मुख्यमंत्री ने विधायक राकेश पठानिया की तरफ से 100 की आबादी के गांवों को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना चरण-3 के दायरे में लाने को लेकर कहा कि इस मामले को केंद्र सरकार के समक्ष उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पानी की कमी का सामना कर रही पंचायतों का सर्वेक्षण करने तथा गर्मियों का मौसम शुरू होने से पहले लोगों की समस्या का समाधान करने के लिए सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए। 

सिद्धाता नहर बारे सरकार को प्रस्तुत करें रिपोर्ट 
उन्होंने सिद्धाता नहर में अनियमितता का मामला उठाए जाने पर सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निजी तौर पर स्थल पर जाने तथा यथाशीघ्र सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा। उन्होंने विधायक रमेश धवाला की तरफ से ज्वालामुखी माता मंदिर न्यास की भूमि अन्य विभागों को हस्तांतरित करने संबंधित मामले को लेकर जिलाधीश कांगड़ा से तत्काल रिपोर्ट देने को कहा।

ब्लैक लिस्ट होंगे ठेकेदार
मुख्यमंत्री ने कहा कि काम में कोताही बरतने व सही गुणवत्ता का काम न करने वाले ठेकेदार ब्लैक लिस्ट होंगे। उन्होंने कहा कि विधायक निधि को बढ़ाना सरकार के विचाराधीन है। उन्होंने उड़ान योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इससे आने वाले समय में कई पर्यटन स्थलों को जोड़ा जाएगा।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन