ईमानदारी की मिसाल बने सोलन पुलिस के Constable रामजी दास

ईमानदारी की मिसाल बने सोलन पुलिस के Constable रामजी दास

सोलन (चिन्मय): कहते है कलयुग में ईमानदारी खत्म हो चुकी है लेकिन आज भी कुछ लोग ऐसे है जिनकी वजह से ईमानदारी अभी भी जिदा है और दुनिया के ईमान को भटकाने वाली दौलत भी उनके ईमान को छू भी नहीं पाती। ऐसा ही शख्स सोलन में है। जिसका नाम रामजी दास ठाकुर है। जिसे सुनसान क्षेत्र में गिरा हुआ पर्स मिला। जिसमे हजारों रूपए सहित जरूरी कागजात और ऐटीएम् कार्ड भी था। जिसे देखकर उनका ईमान नहीं डोला और पर्स को जिला पुलिस अधीक्षक को सौंप दिया।
PunjabKesari
उनकी ईमानदारी को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक भी बहुत प्रभावित हुए और उन्हें उनकी ईमानदारी के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। जिला सोलन पुलिस की सिक्योरटी ब्रांच में कार्यरत रामजी दास ठाकुर प्रशस्ति पत्र पा कर फूले नहीं समा रहे है। उनका कहना है की वह 54 वर्ष में जिला पुलिस अधीक्षक से आज पहली बार प्रशस्ति पत्र पा कर बेहद खुश है। 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन