पूर्व विधायक सुरेंद्र पाल सहित 15 नेता कांग्रेस से निष्कासित, जानिए किस बात की मिली सजा

पूर्व विधायक सुरेंद्र पाल सहित 15 नेता कांग्रेस से निष्कासित, जानिए किस बात की मिली सजा

शिमला: हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने 4 विधानसभा क्षेत्रों के 15 नेताओं को निष्कासित कर दिया है। जिन नेताओं को निष्कासित किया गया है, उनमें धर्मशाला से 7, कुटलैहड़ से 3, हमीरपुर से 1 और जोगिंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र से 4 नेता शामिल हैं। सभी नेताओं पर पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ काम करने का आरोप लगा है। यह निष्कासन ब्लाक कांग्रेस कमेटी तथा कांग्रेस प्रत्याशी के अनुमोदन के बाद किया गया है। धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र से निष्कासित नेताओं में दिग्विजय पुरी, बलदेव चौधरी, अरविंद गुप्ता, अरुण बिष्ट, रजनीश पाधा, दुर्गेश नंदनी और अरुण बिष्ट शामिल हैं। 


सभी नेता 6 साल के लिए निष्कासित
कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र से सुमित शर्मा, रणबीर राणा और संजीव सैनी को निष्कासित किया गया है। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र से कमल पठानिया को निष्कासित किया गया है। इसके अलावा जोगिंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक सुरेंद्र पाल ठाकुर, बिमला चौहान, केहर सिंह और रविंद्र पाल शामिल हैं। पार्टी ने सभी नेताओं को 6 साल के लिए निष्कासित किया है। इसी तरह उनकी प्राथमिक सदस्यता को 6 साल के लिए रद्द किया गया है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले कांग्रेस पार्टी की तरफ से शिमला नगर निगम के 2 पार्षदों के अलावा 1 पूर्व पार्षद को भी इसी तरह से निष्कासित कर दिया था। ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी ब्लाक कांग्रेस कमेटी और प्रत्याशियों की तरफ से मिलने वाली शिकायतों के आधार पर आगामी दिनों में कई अन्य नेताओं को भी निष्कासित कर सकती है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!